सीवर सफाईकर्मी : पेट की खातिर मौत से पंजा लड़ाने की मजबूरी

सीचिपियाना (ग़ाज़ियाबाद) निवासी फुट सिंह वाल्मीकि ऐसे पिता हैं, जिनके पांच जवान बेटों की मौत सीवर की स़फाई करते समय हो गई. सबकी उम्र 20 से 35 वर्ष के बीच थी. फुट सिंह की पांच विधवा बहुए हैं. इसी तरह 40 वर्षीय तारी़फ सिंह सीवर स़फाई का काम करते थे. वह घर से काम पर निकले थे. शाम को घर पर खबर आई कि तारी़फ सिंह की काम के दौरान हालत बिगड़ गई है, वह अस्पताल में हैं.

Read more

गंगोत्री में ही गंगा मैली

हर धर्म की अपनी मान्यताएं-परंपराएं होती हैं. आस्था को विज्ञान की कसौटी पर नहीं कसा जा सकता, किंतु ऐसा भी नहीं कि उसमें कोई तर्क न हो. यदि धर्म न हो तो समाज में समरसता, भाईचारा और उल्लास देखने को न मिले.

Read more

शहरीकरणः कब चेतेंगे हम

दुनिया में तेज़ी से हो रहे शहरीकरण के बारे में संयुक्त राष्ट्र संघ की हालिया रिपोर्ट के दो आंकड़े गौर करने योग्य हैं. पहला यह कि इस वर्ष के अंत तक विश्व की आधी आबादी शहरों में रहने लगेगी, जबकि भारत में 30 प्रतिशत लोग शहरी होंगे. दूसरा यह कि 2050 तक हिंदुस्तान की आधी आबादी महानगरों, नगरों एवं कस्बों में निवास करेगी और तब तक विश्व स्तर पर शहरीकरण का आंकड़ा 70 प्रतिशत पर पहुंच चुका होगा.

Read more

शहर इंसानों के लायक नहीं रहे

दिल्ली में राष्ट्रमंडल खेल होने हैं. दिल्ली को विश्वस्तरीय शहर के रूप में तैयार किया जा रहा था. बारिश ने सरकार और योजना बनाने वाले उच्च अधिकारियों की पोल खोल दी. देश की राजधानी में बारिश के पानी की निकासी का इंतज़ाम नहीं है. रिहायशी इलाक़ों से लेकर सड़कों तक पानी भर गया. ट्रैफिक जाम के चलते लोग घंटों रास्ते में फंसे रहे.

Read more