पश्चिम बंगाल में बम बनाने के दौरान इमारत में धमाका, तीन गंभीर रूप से जख्मी

नई दिल्ली, (विनीत सिंह) : पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में एक इमारत में धमाका हो गया जिसमें धमाके  तीन लोग

Read more

व्यापमं घोटाला : सच के सिपाहियों की जान कौन बचाएगा

व्हिसिल ब्लोअर बिल 2010 में सरकारी धन के  दुरुपयोग और सरकारी संस्थाओं में हो रहे घोटालों की जानकारी देने वाले

Read more

कोचिला वन पर वन-माफिया की नज़र

पूर्वी चम्पारण जिले के लखौरा थानाक्षेत्र में स्थित बिहार का इकलौता ऐतिहासिक कोचिला वन इन दिनों अपने अस्तित्व को बचाने

Read more

जरा हट के : मुर्गी के इश्क में मुर्गा हुआ घायल

अभी तक आप प्यार के ढेरों अनोखे अंदाज देखे होंगे, लेकिन मध्य प्रदेश में प्यार का एक अनोखा मामला सामने

Read more

चौपट शिक्षा व्यवस्था पर नीतीश सरकार का उत्सव

बिहार में देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती पर तीन दिवसीय शिक्षक दिवस समारोह मनाया

Read more

बेहतर चुनाव के लिए बेहतरीन प्रयास

जिला निर्वाचन अधिकारी के तौर पर पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले में चुनाव कराना संतोषप्रद रहा. अभी तक हुए चुनाव के इतिहास में इस ज़िले में हुआ 2011 का चुनाव सबसे शांतिपूर्ण रहा. राजनीतिक दल, मीडिया तथा आम लोगों ने भी इस तथ्य की पुष्टि की. इस चुनाव से जुड़े सभी लोगों ने अपनी तऱफ से भरपूर समर्थन और सहयोग दिया.

Read more

केन्द्रीय विशिष्ट वनाधिकार कानून : वन विभाग और पुलिस की मनमानी जारी

उत्तर प्रदेश में वन विभाग एवं पुलिस-प्रशासन द्वारा वनाश्रित समाज पर लगातार हो रहे हमलों में बीते 22 अक्टूबर को एक नया अध्याय तब जुड़ गया, जब जनपद गोंडा की तहसील मनकापुर के वनक्षेत्र में बसे बुटाहनी टांगिया गांव में रहने वाले दलितों पर एसडीएम के नेतृत्व में जमकर लाठियां बरसाई गईं, जिसमें विशेष रूप से महिलाओं को निशाना बनाया गया.

Read more

चुनावी समीकरण उलझ गए

उत्तर बंगाल के छह ज़िलों की 54 विधानसभा सीटों के लिए पहले चरण के चुनावी समीकरण दक्षिण बंगाल की तुलना में कई मायनों में अलग हैं. कूचबिहार, जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग, उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर और मालदा में 18 अप्रैल को होने वाला मतदान सतरंगी परिणाम ला सकता है. बंगाल की खाड़ी से उठी बदलाव की बयार चाय बाग़ान होते हुए पहाड़ियों से टकराकर जैसे ठिठक गई है.

Read more

भीख मांगता है महादलित

कहने को तो नीतीश के सुशासन की सरकार ने महादलितों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई हैं. ये योजनाएं कितनी साकार हुईं हैं, इस बात का सही आकलन इस महादलित विकलांग को देखकर ही किया जा सकता है.

Read more

अनाज के लिए तरसते आदिवासी

मध्य प्रदेश के खंडवा ज़िले के कोरकू आदिवासी बहुल खालवा विकासखंड में आदिवासी अनाज के लिए तरस रहे हैं. पिछले वर्ष विधानसभा चुनाव के समय यह क्षेत्र भुखमरी से पीड़ित आदिवासियों की व्यथा-गाथा के कारण चर्चा में आया था. लगभग दो माह की अवधि में खालवा में 50 से ज़्यादा बच्चे कुपोषण का शिकार होकर असमय काल के गाल में समा गए.

Read more

जीटी रोड पर अवैध कारोबार

गया ज़िले में ग्रैंड ट्रंक रोड, अब राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या दो में क़रीब 72 किलोमीटर का हिस्सा तमाम तरह के अवैध कारोबार करने वालों के लिए अभयारण्य बन गया है. इस बात का पुख्ता प्रमाण जीटी रोड पर पड़ने वाले गया ज़िले के चार थाने -आमस, शेरघाटी, डोभी और बाराचट्टी, पुलिस पदाधिकारियों तथा शेरघाटी अनुमंडल मुख्यालय में प्रशासनिक पदाधिकारियों की पदस्थापना के लिए ऊंची पहुंच और मोटी रक़म चर्चा का विषय बन गए हैं.

Read more