राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति: बीमार भारत के लिए काफी नहीं

गोरखपुर की घटना भूल जाइए, अगर भूल सकते हैं. दिल्ली आइए, देश की राजधानी. यहां पांच सितारा अस्पताल है. जहां

Read more

जानिए क्या है होम्योपैथिक दवाई खाने का सही तरीका

अगर कोई काफी समय से किसी बीमारी से परेशान और जड़ से खत्म करना चाहते है वो भी बिना किसी

Read more

नेशनल मेडिकल बिल के विरोध में डॉक्टर्स की हड़ताल, स्वास्थ्य सेवाओं पर असर

नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने हड़ताल का एलान किया है. इसके मद्देनजर देशभर

Read more

राष्ट्रीय मेडिकल आयोग : पढ़ाई और दवाई दोनों महंगे

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाले केंद्रीय मंत्रियों के समूह (जीओएम) ने बदलाव के कुछ सुझावों के साथ राष्ट्रीय

Read more

नुकसानदायक है दर्द निवारक दवाओं का ज़्यादा इस्तेमाल

नई दिल्ली : दर्द निवारक दवाओं का प्रयोग कभी न कभी सभी करते हैं. आजकल बिना डॉक्टर की सलाह के

Read more

नौनिहालों की मौत पर तमाशबीन सरकार

  ओड़ीशा में मलकानगिरी जिले के गोबिंदपाल्ली ग्राम पंचायत का एक गांव है कोमलापोदर. मसाई मडकामी बुखार से बेसुध दो

Read more

एमसीआई बिल 2016 : डॉक्टरी की पढ़ाई और इलाज से दूर हो जाएगा आम आदमी

हाल ही में एक तस्वीर मीडिया की सुर्खियां बनी. ये तस्वीर एक व्यक्ति की थी जो अपनी मृत पत्नी की

Read more

सावधानी से बनवाएं टैटू

कई चिकित्सकों का कहना है कि टैटू बनवाने से त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. उनके अनुसार टैटू बनाने

Read more

घुटने की प्रत्यारोपण सर्जरी आसान विकल्प है

मॉर्डन लाइफ स्टाइल, काम का कोई समय नहीं और काम के लिए दिन-रात एक जैसे होने की वजह से जो

Read more

संभल कर करें एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल

शोध के अनुसार अधिकांश मरीजों का मानना था कि एंटीबायोटिक्स लेने से बीमारी पर जल्दी असर होता है और उनकी

Read more

साहस की मिसाल थीं क्रिस्टिना स्कारबेक

मारिया क्रिस्टिना जैनिना स्कारबेक, जिन्हें क्रिस्टीन ग्रैनविले के नाम से भी जाना जाता था, द्वितीय विश्‍व युद्ध के दौरान ब्रिटेन

Read more

नसबंदी कांड : महिलाओं की मौत का जिम्मेदार कौन

पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में कैंप लगाकर किए गए नसबंदी कार्यक्रम में कुल 17 महिलाओं की मौत ने

Read more

संभल कर खायें हरी सब्जियां

पिछले कुछ सालों में एक बीमारी के बहुत से मामले देखे गए हैं जिसमें मरीज को अचानक से मिरगी जैसे

Read more

जरा हट के : लगाएंगी कैंसर का पता डॉक्टर मधुमक्खियां

हम सभी जानते हैं कि मधुमक्खियों को सूंघने की क्षमता अधिक होती है. वे एक साथ कई प्रकार की गंध

Read more

दवा कंपनियां, डॉक्‍टर और दुकानदार: आखिर इस मर्ज की दवा क्‍या है

दवा, डॉक्टर एवं दुकानदार के प्रति भोली-भाली जनता इतना विश्वास रखती है कि डॉक्टर साहब जितनी फीस मांगते हैं, दुकानदार जितने का बिल बनाता है, को वह बिना किसी लाग-लपेट के अपना घर गिरवी रखकर भी चुकाती है. क्या आप बता सकते हैं कि कोई घर ऐसा है, जहां कोई बीमार नहीं पड़ता, जहां दवाओं की ज़रूरत नहीं पड़ती? यानी दवा इस्तेमाल करने वालों की संख्या सबसे अधिक है. किसी न किसी रूप में लगभग सभी लोगों को दवा का इस्तेमाल करना पड़ता है, कभी बदन दर्द के नाम पर तो कभी सिर दर्द के नाम पर.

Read more

जेलों में बढ़ती मुसलमानों की आबादी

आज से 65 वर्ष पूर्व जब देश स्वतंत्र हुआ था तो सबने सोचा था कि अब हम विकास करेंगे. आज़ाद देश में नागरिकों के अधिकारों की सुरक्षा की जाएगी. छुआछूत, जाति-पांत और भेदभाव का अंत होगा. हर धर्म से जुड़े लोग एक भारतीय के रूप में आपस में भाईचारे का जीवन व्यतीत करेंगे. धार्मिक घृणा को धर्मनिरपेक्ष देश में कोई स्थान प्राप्त नहीं होगा. यही ख्वाब राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देखा था और यही आश्वासन संविधान निर्माताओं ने संविधान में दिया था, लेकिन आज 65 साल बीत जाने के बाद यह देखकर पीड़ा होती है कि जाति-पांत की सियासत हमारे देश की नियति बन चुकी है.

Read more

जोहरा जबीं नहीं रहीं

60 के दशक में बॉलीवुड की क़रीब ढाई सौ फिल्मों में अभिनय कर चुकीं मशहूर अभिनेत्री अचला सचदेव का निधन हो गया. बॉलीवुड की खूबसूरत अदाकारा ज़ोहरा जबीं यानी अचला सचदेव अपनों के दिए दर्द और तन्हाई में ही खो गईं. पुराने ज़माने की खूबसूरत अदाकारा अचला सचदेव पक्षाघात से जूझ रही थीं और पुणे के एक अस्पताल में भर्ती थीं. उनका इलाज चिकित्सक विनोद शाह कर रहे थे.

Read more

नो टेंशन, मोटापा

स्पेनिश नेशनल कैंसर रिसर्च सेंटर ने प्टेन जीन को लेकर काम तो यह शुरू किया था, ताकि कैंसर सेल पर शोध की जा सके. शोध आगे बढ़ा तो पता चला कि इस जीन को यदि थोड़ा-सा बदल दिया जाए तो कैंसर के साथ मोटापे की समस्या से भी निजात पाई जा सकती है.

Read more

चिकित्सा अब समाजसेवा नहीं

कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के बिजनौर ज़िले के भोगनवाला गांव निवासी शमशाद (25) को उसके परिवारीजन इलाज के लिए ज़िला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसके फेफड़ों में पानी होने की बात कहते हुए भर्ती करने से इंकार कर दिया. मरीज के परिवारीजन डॉक्टरों से घंटों मिन्नतें करते रहे, मगर अस्पताल प्रशासन अपने रवैये पर अड़ा रहा.

Read more

कलम का कमाल

एक ख़बर के मुताबिक़, एक महिला के पेट में 25 वर्षों तक रहने के बावजूद एक कलम अभी भी काम कर रही है. यह 76 वर्षीय महिला लगातार कम हो रहे वजन और डायरिया से परेशान होकर डॉक्टर के पास पहुंची.

Read more

ईश्वरीय सेवा के निमित्त

कभी आपने सोचा कि कोई व्यक्ति महात्मा, साधु-संत क्यों बनता है और कोई गृहस्थ व्यापारी, चोर, डाकू, वैज्ञानिक, डॉक्टर या भिखारी क्यों बनता है?

Read more

तिरुपति होम्स कैंसर अस्पताल बनाएगा

तिरुपति होम्स ने अपनी सामाजिक ज़िम्मेदारियों को पूरा करते हुए दरभंगा में एक कैंसर अस्पताल भवन के निर्माण की घोषणा की है. तिरुपति होम्स लिमिटेड के सीएमडी शशिभूषण सिन्हा ने बताया कि छह करोड़ की लागत से बनने वाले अस्पताल भवन का पूरा खर्चा कंपनी उठाएगी.

Read more

कोई नहीं रोक सकता हमें राजनीति करने से

मुसलमान औरतों का भला राजनीति में क्या काम? वे कैसे आ सकती हैं राजनीति में.अल्लाह ने औरतों को महज़ बच्चा पैदा करने के लिए ही ज़मीन पर भेजा है. उनका काम है कि वे घर बैठें और अच्छी नस्ल के बच्चे पैदा करें. उन्हें डाक्टर और इंजीनियर बनाएं. अच्छे नेता पैदा करें. राजनीति से वे तो दूर ही रहें वही बेहतर है…..

Read more