सौर ऊर्जा का लक्ष्य विदेशी कंपनियों से नहीं हासिल होगा

केंद्र सरकार ने सौर ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में लक्ष्य तो निर्धारित कर लिए, लेकिन इस लक्ष्य को सिर्फ विदेशी

Read more

छत्तीसगढ़ में विकास कार्यों में 2168 करोड़ रुपए की अनियमितता : ग़रीब प्रदेश में ‘विकास’ की लूट

बात एक ऐसे प्रदेश की जिसे प्रकृति ने समृद्ध-संपन्न बनाया, लेकिन प्रशासनिक अकुशलता, सरकारी काहिली, नीतियों और दूरदृष्टि के अभाव

Read more

बिहार : बहुत दूर है औद्योगिक निवेश की मंज़िल

2005 में बिहार के सत्ता परिवर्तन को एक नई उम्मीद और नए सबेरे के रूप में प्रचारित किया गया था.

Read more

हम नहीं चाहते बच्चे बंदूक उठाएं

कश्मीर महज़ सड़क, बिजली, पानी और कुर्सी का मसला नहीं है. कश्मीर के लोग यहां पर जॉब्स और इंसेंटिव्स मांग

Read more

खीरी में ख़राब स्वास्थ्य सेवाएं, झूठ के आसरे सीएमओ

चुनावी बिगुल बज चुका है, लेकिन सच मानिए, पूरे प्रदेश की जनता विभिन्न मुद्दों जैसे बिजली, पानी, कानून, रोजगार, शिक्षा

Read more

स्थापना के 16 साल बाद भी झारखंड में सपना रह गया 24 घंटे बिजली : वादा आपूर्ति फुल बिजली आपूर्ति जीरो

बिजली की समस्या से जूझ रहे झारखंड के लोगों को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने यह आश्‍वासन दिया था कि अब

Read more

हास्यास्पद दावे करना बंद कीजिए

मौजूदा केंद्र सरकार के दो साल बीत चुके हैं. व्यक्तिगत तौर पर मैं मानता हूं कि केंद्र सरकार को जो

Read more

प्रचार नहीं, लोगों का सपना पूरा कीजिए

मोदी सरकार के दो साल पूरे हो गए. दो साल पूरे होने पर जश्न मनाना एक परंपरा भी है और

Read more

केंद्र ने कहा पानी लो तो अखिलेश बोले बुंदेलखंड में बहुत पानी है! : प्यास पर पॉलिटिक्स घिनौनी

उत्तर प्रदेश की सूखी जमीन पर नेताओं की शर्मो-हया पानी-पानी बुंदेलखंड में सुलग रही सियासी आग को केंद्र सरकार के

Read more

नीतीश बजट पर नीतीश निश्चय

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चयों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए बिहार की महा-गठबंधन सरकार ने अपना पहला बजट पेश

Read more

उत्तर प्रदेश : दशक के सबसे बड़े भ्रष्टाचार का पर्दाफाश भ्रष्टाचार का सह-अस्तित्व बिना कंपनी के मिल गया ठेका

आपने कभी सुना है कि जो कंपनी अस्तित्व में न हो, उसे पांच-पांच परियोजनाओं के ठेके दे दिए जाएं? लेकिन,

Read more

सरदार सरोवर प्रभावित क्षेत्र : पुनर्वास के खोखले दावे

पुनर्वास नीति एवं पुनर्वास पर उच्चतम न्यायालय और नर्मदा जल विवाद न्यायाधिकरण के आदेश का उल्लंघन बड़े पैमाने पर चल

Read more

अति आत्मविस्वास ने भाजपा को हरा दिया

यदि भाजपा की अप्रत्याशित पराजय के कारणों का आकलन किया जाए, तो उसमें दो मुख्य पहलू उभर कर सामने आते

Read more

महान देश के महान राजनेता

नरेंद्र मोदी जी, विज्ञान बहुत आगे बढ़ गया है. तकनीक उपलब्ध है. मैंने अपनी आंखों से वायुमंडल से पानी बनते

Read more

अरबों रुपये बकाया, चोरी और उस पर सीनाजोरी

उत्तर प्रदेश सरकार 2017 के विधानसभा चुनाव में बिजली को बड़ा मुद्दा बनाएगी. इसकी तैयारियां चल रही हैं, भूमिका बन

Read more

सितापुर : ध्वस्त हो रहा है मेकइन इंडिया का नारा : कल-कारखाने दम तोड़ रहे हैं

देश में औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया का नारा देकर देशी-विदेशी उद्योगपतियों

Read more

आपदा के बाद कश्मीर

पांच सितंबर की मध्य रात्रि श्रीनगर में पानी का स्तर अचानक बढ़ने लगा. उस समय अधिकतर लोग अपने घरों में

Read more

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ पूरे देश को लड़ना होगा

दस सालों के बाद भारत के प्रधानमंत्री को लोगों के बीच भाषण करते देखना सुखद लगता है और खासकर तब,

Read more

कठोर निर्णय लेने होंगे!

उन्नीस सौ तीस के दशक के दौरान अर्जेंटीना दुनिया के पांच सबसे अमीर देशों में शामिल हुआ करता था, लेकिन

Read more

बिजली के लिए जिम्मेदार कौन

गर्मियों का मौसम आते ही देश में बिजली आपूर्ति में कमी कोई असामान्य बात नहीं है. पिछले दिनों जैसे-जैसे मौसम

Read more

पानी का महत्व समझना होगा

जम्मू-कश्मीर का जिला पुंछ सरहद पर होने की वजह से हमेशा सुर्खियों में रहता है. यह जिला सीमावर्ती होने की

Read more

ज़ोर का झटका देगी बिजली पर मिली छूट

आम आदमी पार्टी ने अपने चुनावी अभियान की शुरुआत बिजली और पानी के मुद्दों से ही की थी. अपने चुनावी

Read more

लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ मत कीजिए

सरकार का संकट उसकी अपनी कार्यप्रणाली का नतीजा है. सरकार काम कर रही है, लेकिन पार्टी काम नहीं कर रही है और हक़ीक़त यह है कि कांग्रेस पार्टी की कोई सोच भी नहीं है, वह सरकार का एजेंडा मानने के लिए मजबूर है. सरकार को लगता है कि उसे वे सारे काम अब आनन-फानन में कर लेने चाहिए, जिनका वायदा वह अमेरिकन फाइनेंसियल इंस्टीट्यूशंस या अमेरिकी नीति निर्धारकों से कर चुकी है.

Read more

सीवानः विकास की गाड़ी बहुत धीमी हैं

कहने को तो सुशासन में सीवान बदला है लेकिन जनापेक्षाकृत उतना नहीं! यहां अभी भी कई समस्याएं जस की तस हैं. सड़कों की मरम्मत और निर्माण कार्य हो रहे हैं. लेकिन कई सड़कों का निर्माण कार्य फिलहाल ठप है.

Read more

काम के नाम पर खानापूर्ति

सरकार जनता का जीवन स्तर सुधारने के लिए उन्हें सड़क, पेयजल, बिजली, नाला, पुल जैसी मूलभूत सुविधा देने के लिए चाहे लाख कल्याणकारी योजनाएं बना ले, लेकिन सही मायने में ऐसी योजनाएं उसी के कारिदों की कारस्तानी के कारण पूरी तरह से धरातल पर उतरती नज़र नहीं आ रही है.

Read more

उम्मीदों का ताज

बिहार की जनता ने नीतीश कुमार को छप्पर फाड़ जनादेश देकर पूरी दुनिया­­­ को चौंका दिया. ऐसा जनादेश, जिसकी कल्पना खुद नीतीश कुमार भी नहीं कर रहे थे. लेकिन बिहार की जनता ने लोकतंत्र के महापर्व का पूरा मज़ा लेते हुए जनादेश के साथ नीतीश कुमार को ढेर सारी ज़िम्मेदारियों से भी लबरेज कर दिया. यह ऐसा जनादेश है, जो बिहार की जनता की उम्मीदों से पूरी तरह सराबोर है. नीतीश कुमार की अगली पारी इन्हीं उम्मीदों की कसौटी पर कसी जाएगी. बिजली, स्वास्थ्य, पूंजी निवेश, कृषि, शिक्षा, सिंचाई एवं पलायन आदि ऐसे क्षेत्र हैं, जिन पर बहुत सारा काम होना बाकी है. नीतीश कुमार को भी इस प्रचंड जनादेश के बाद सूबे के लोगों की बढ़ी हुई उम्मीदों का एहसास है, इसलिए उन्होंने जीत के बाद सा़फ किया कि मैं कोई दावा तो नहीं करूंगा, लेकिन पूरी मेहनत के साथ यह कोशिश ज़रूर करूंगा कि राज्य की जनता की उम्मीदें पूरी कर सकूं.

Read more

बैकफुट पर निशंक सरकार

उत्तराखंड सरकार ने विवादित जल विद्युत परियोजना रद्द कर दी है. सरकार के इस फैसले से विपक्ष खासा नाराज़ है. इसके पहले विपक्ष ने सदन के अंदर और बाहर आरोप लगाया था कि 54 जल विद्युत परियोजनाओं के आवंटन में मुख्यमंत्री निशंक एवं उनकी सरकार के हाथ भ्रष्टाचार में सने हुए हैं.

Read more

किसानों की उम्मीदों पर पानी

आज़ादी मिलने के 63 वर्षों के बाद भी कृषि आधारित सारण ज़िले के पश्चिमी सीमांत क्षेत्रों में खेती करने वाले किसानों की ज़िंदगी फटेहाल है. सरकार के लाख दावों के बावजूद उनकी स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है. दशकों पूर्व मांझी विधानसभा क्षेत्र के अधीन एकमा, रसूलपुर, ताजपुर, पकवारइनार एवं दाऊदपुर आदि गांवों में लगाए गए सरकारी ट्यूबवेल बिजली के अभाव में बंद पड़े हैं,

Read more