खेती-किसानी और उद्यमिता को नई दिशा दे रहा मोरारका फाउंडेशन

इसे पानी की कमी कहें या संसाधनों का अभाव, राजस्थान में खेती को हमेशा से ही घाटे का सौदा माना

Read more

नवलगढ़ एजेंडाः किसानों को मिले डबल-डबल फार्म इन्कम

मोरारका फाउंडेशन के चेयरमैन श्री कमल मोरारका ने इस मौके पर किसानों को संबोधित करते हुए जैविक कृषि का महत्व

Read more

ग्रामीण भारत में आधुनिक शिक्षा की अनूठी पहल

शेखावाटी शिक्षा समाज की नींव होती है, शिक्षा एक मजबूत एवं समृद्ध राष्ट्र का निर्माण करती है. शिक्षा मानव के

Read more

हाईटेक खेती ने जीवन में बिखेरे खुशियों के रंग

शेखावाटी देश के ज़्यादातर किसान अब भी पारंपरिक तरीकों से खेती करते हैं, जो अक्सर घाटे का सौदा साबित होती

Read more

जैविक खेती से किसानों को मिली नई ज़िन्दगी

ऐसे दौर में जब भारत के विभिन्न क्षेत्रों के किसान तरह-तरह की समस्याओं से परेशान होकर आत्महत्या करने के लिए

Read more

ट्रे-कल्टीवेशन तकनीक : किसानों में जगाती उम्मीद

मोरारका फाउंडेशन ने ट्रे-कल्टीवेशन की नई तकनीक के सहारे खेती को जो आयाम दिए हैं, उससे किसानों में एक नई

Read more

शेखावटी- जैविक खेती : …और कारवां बनता जा रहा है

पंजाब में नहरों का जाल है. गुजरात और महाराष्ट्र विकसित राज्य की श्रेणी में हैं. बावजूद इसके यहां के किसानों को आत्महत्या करनी प़डती है. इसके मुक़ाबले राजस्थान का शेखावाटी एक कम विकसित क्षेत्र है. पानी की कमी और रेतीली ज़मीन होने के बाद भी यहां के किसानों को देखकर एक आम आदमी के मन में भी खेती का पेशा अपनाने की इच्छा जागृत होती है, तो इसके पीछे ज़रूर कोई न कोई ठोस वजह होगी. आखिर क्या है वह वजह, जानिए इस रिपोर्ट में:

Read more

सेवानिवृत जवानों के पुनर्वास के लिए : भारतीय सेना का ऐतिहासिक क़दम

शहरों और गांवों में शांति से रहने वाले हम आप जैसे लोगों को शायद ही कभी यह ध्यान में आता है कि यह शांति और आज़ादी एक ही झटके में खत्म हो जाए, अगर देश के लाखों बहादुर जवान बॉर्डर पर तैनात न रहें. हम इंडियन आर्मी और सीमा पर तैनात लाखों जांबाज़ों को सलाम करते हैं, जो अपने परिवार से दूर, अपने गांव से दूर, अपने दोस्तों से दूर, हिमालय की ऊंचाइयों और रेगिस्तान की गर्मी में रहकर देश की सुरक्षा करते हैं.

Read more

शेखावाटीः बदलाव और कामयाबी का सफर जारी है

करीब दो महीने से चौथी दुनिया आपको लगातार शेखावाटी के बदलते चेहरे के बारे में बता रहा है. अलग-अलग कहानियों के ज़रिए यह बताने की कोशिश की जा रही थी कि कैसे शेखावाटी विकास की नित नई इबारत लिख रहा है. जैविक खेती करने वाले किसानों ने अपनी सफलता की कहानी खुद अपनी ज़ुबानी बताई. महिलाओं और युवतियों की कामयाबी ने साबित किया कि घूंघट उनके विकास में बाधक नहीं है.

Read more

शेखावटी उत्‍सव 2010

राजस्थान के अर्द्धशुष्क रेगिस्तानी क्षेत्र का भू-भाग शेखावाटी. ह इलाका सेठों की जन्मस्थली और वीरों की कर्मभूमि रहा है. रेतीले धारों के बीच यहां की हवेलियां और उन पर बने भित्ति चित्रों की भव्यता बेमिसाल है. इस क्षेत्र की प्रचलित लोक कलाएं, हस्तशिल्प और जीवनशैली पूरे देश में अपनी अमिट छाप रखती हैं.

Read more