चाय पर चर्चा के दौरान मोदी ने किया यूपी के सांसदों का सम्मान, दिया नया टास्क

नई दिल्ली (निरंजन मिश्रा)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली भारी जीत से खुश प्रधानमंत्री मोदी ने राज्य के

Read more

शशिकला को एक और झटका, पन्नीरसेल्वम को मिला 3 और सांसदों का समर्थन

नई दिल्ली, (विनीत सिंह) : तमिलनाडु के कार्यवाहक सीएम ओ पन्नीरसेल्वम अब फ्रंट फूट पर आ गये हैं. पन्नीरसेल्वम के

Read more

सांसदों के प्रति यह दोहरा मापदंड क्यों

इन दिनों सांसदों के वेतन-भत्तों को बढ़ाने के प्रस्ताव के ऊपर संपूर्ण मीडिया में शोर मचा हुआ है. मीडिया का

Read more

प्रधानमंत्री के नाम अन्ना की चिट्ठी

सेवा में,

श्रीमान् डॉ. मनमोहन सिंह जी,

प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नई दिल्ली.

विषय : गैंगरेप-मानवता को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना घटी और देश की जनता का आक्रोश सड़कों पर उतर आया. ऐसे हालात में आम जनता का क्या दोष है?

महोदय,

गैंगरेप की घटना से देशवासियों की गर्दन शर्म से झुक गई.

Read more

लोकपाल समस्या का समाधान नहीं है

जब हमने समाज में सुधार के लिए संसदीय लोकतंत्र को स्वीकार कर लिया है तो फिर इसके लिए किसी तरह की कोई जल्दबाज़ी करने की आवश्यकता नहीं है. हमें सांसदों और विधायकों की गुणवत्ता में सुधार के लिए लगातार प्रयास करना है, जिससे शासन की गुणवत्ता में सुधार होगा.

Read more

आप भी भ्रष्टाचार से लड़ सकते हैं

भ्रष्टाचार देश को घुन की तरह खा रहा है. अ़फसर से लेकर नेता तक हर कोई लूट के खेल में लगा हुआ है. विधायकों एवं सांसदों का वेतन-भत्ता सुरसा के मुंह की तरह बढ़ता जा रहा है. रातोंरात बनते इनके महल और करोड़ों-अरबों की संपत्ति देखकर तो यही लगता है. जिस जनता के वोटों से ये चुने जाते हैं, वही इनसे यह नहीं पूछ पाती कि आखिर कुछ ही समय में इनके पास इतना पैसा कहां से आ गया.

Read more

युवाओं को सड़क पर उतरना होगा

23 मार्च, 1931 की सुबह सात बजे लाहौर जेल में भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी दे दी गई. ये जांबाज़ स्वतंत्रता संग्राम के महानायक थे. इनकी आंखों में आज़ाद भारत का सपना था. एक ऐसा भारत, जो दुनिया भर में लोकतंत्र की एक मिसाल बनेगा.

Read more

सांसद पुत्रः बाप बड़ा न पार्टी, टिकट दे वही साथी

बिहार विधानसभा चुनाव की रणभेरी बजते ही कैमूर की राजनीतिक धरती पर बग़ावत की जो पौध अचानक पनप गई, उससे राज्य के सत्ताधारी गठबंधन राजग एवं विरोध की राजनीत कर रहे विपक्षी दल राजद के राजनीतिक समीकरण तार तार होते दिखाई दे रहे हैं. भला ऐसा हो भी क्यों नहीं.

Read more

यह आत्ममंथन का व़क्त है

साहित्य अकादमी के पुरस्कार वितरण समारोह में कुछ हिंदू संगठनों के विरोध से साहित्यिक जगत में तू़फान उठ खड़ा हुआ है. प्रगतिवाद और जनवाद के तथाकथित ठेकेदार इसे लेखकीय अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर भगवा हमला करार दे रहे हैं. इन बयानवीर जनवादियों को समारोह के दौरान हुए विरोध प्रदर्शन में फासीवाद की आहट भी सुनाई दे रही है, लेकिन किसी भी विरोध पर हल्ला मचाने वाले उक्त प्रगतिवादी लेखक यह भूल जाते हैं कि विरोध और विवाद के पीछे की वजह क्या है.

Read more