‘पद्मावत’ ने चमकाई रणवीर सिंह की किस्मत, IPL के लिए करेंगे इतना चार्ज

हाल ही में बॉलीवुड फिल्म ‘पद्मावत’ में अलाउद्दीन खिलजी का रोल प्ले कर चुके एक्टर रणवीर सिंह की लोकप्रियता आजकल

Read more

इन आंकड़ों के मुताबिक, कांग्रेस पहले के मुकाबले मजबूत हो रही है !

नई दिल्ली (ब्यूरो, चौथी दुनिया) । 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से कांग्रेस लगातार पिछड़ती दिख रही है। चुनाव

Read more

अराजकता का लाइसेंस नहीं स्वायत्तता

समकालीन भारतीय साहित्य इन दिनों संघर्ष, विरोध, प्रतिरोध, प्रदर्शन, प्रति प्रदर्शन, पुरस्कार वापसी आदि जैसे शब्दों से गूंज रहा है.

Read more

प्रजातंत्र बना लाठीतंत्र

एक बार लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर जबरदस्त प्रदर्शन हुआ. प्रदर्शनकारी पूर्वांचल के अलग-अलग शहरों से लखनऊ पहुंचे थे, उनकी संख्या क़रीब 1500 रही होगी, उनमें किसान, मज़दूर एवं छात्रनेता भी थे, जो अपने भाषणों में मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ आग उगल रहे थे. वे सब अपने भाषणों में सीधे मुख्यमंत्री पर निशाना साध रहे थे. उस प्रदर्शन का नेतृत्व समाजवादी नेता चंद्रशेखर कर रहे थे.

Read more

राजनीतिक दलों का रवैया गुस्सा दिलाता है

महाभारत शायद आज की सबसे बड़ी वास्तविकता है. इस महाभारत की तैयारी अलग-अलग स्थलों पर अलग तरह से होती है और लड़ाई भी अलग से लड़ी जाती है, लेकिन 2013 और 2014 का महाभारत कैसे लड़ा जाएगा, इसका अंदाज़ा कुछ-कुछ लगाया जा सकता है, क्योंकि सत्ता में जो बैठे हुए लोग हैं या जो सत्ता के आसपास के लोग हैं, वे धीरे-धीरे इस बात के संकेत दे रहे हैं कि वे किन हथियारों से लड़ना चाहते हैं.

Read more

सबसे लंबी ड्रेस

शादी की ड्रेस बहुत ही सुंदर लगती है. उसकी लंबाई अन्य पोशाकों के मुक़ाबले अधिक लंबी होती है, लेकिन रोम के एक फैशन हाउस ने शादी की ऐसी ड्रेस बनाई है, जो लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बनी हुई है.

Read more

बेआबरु होकर बर्लुस्कोनी को जाना

कई मसलों पर उदाहरण स्वरूप एक पुरानी कहावत कही जाती है- रोम जल रहा था और नीरो बंसी बजा रहा था. यह जुमला इटली के पूर्व प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी पर कुछ ज़्यादा ही फिट बैठता है. वरना, शायद इतने बेआबरू होकर उन्हें सत्ता के गलियारे से नहीं जाना पड़ता.

Read more

हिट शो के लिए तरसते शो मैन-5 : आशुतोष क्यों नहीं खेल रहे जी जान से

आशुतोष गोवारिकर की अगली फिल्म कौन सी होगी. खबर आ रही है कि वह भगवान बुद्ध पर काम कर रहे हैं और बुद्ध के रोल के लिए वह एक्टर की तलाश में हैं. बीच-बीच में यह खबर भी आई कि वह अक्षय कुमार के साथ एक्शन फिल्म बनाना चाहते हैं. उनकी पिछली दो फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल रही हैं और उन्हें एक हिट की तलाश है.

Read more

मिस्र का सत्‍ता परिवर्तनः तानाशाही नहीं चलेगी

मिस्र के इतिहास में 11 फरवरी, 2011 का दिन उस समय दर्ज हो गया, जब देश की सत्ता पर 30 वर्षों तक क़ाबिज रहने वाले 82 वर्षीय राष्ट्रपति होस्नी मुबारक को भारी जनाक्रोश के चलते राजधानी काहिरा स्थित अपना आलीशान महल अर्थात राष्ट्रपति भवन छोड़कर शर्म-अल-शेख़ भागना पड़ा. तमाम अन्य देशों के स्वार्थी, क्रूर एवं सत्तालोभी तानाशाहों की तरह मिस्र में भी राष्ट्रपति होस्नी मुबारक ने अपनी प्रशासनिक पकड़ बेहद मज़बूत कर रखी थी.

Read more

यह पाकिस्तान के लिए शोक का समय है

लाहौर एक ऐतिहासिक शहर है. यह भारत और पाकिस्तान दोनों की जन्मस्थली है. लाहौर में ही रावी के तट पर जवाहर लाल नेहरू ने कांग्रेस सदस्यों को भारत की स्वतंत्रता के लिए शपथ दिलाई थी. लाहौर ही वह जगह थी, जहां जिन्ना ने अपना ऐतिहासिक भाषण दिया था, जिसमें पहली बार पाकिस्तान नामक एक देश की अवधारणा सामने आई थी.

Read more

जम्‍मू- कश्‍मीरः क्‍यों बिगड़े हालात?

तीन माह से हिंसा की भट्ठी में जल रही कश्मीर घाटी में हर गुज़रने वाले दिन के साथ हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. जब कश्मीर के हालात पर नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में बैठक चल रही थी, तब भी घाटी के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा जारी थी. इस दिन पुलिस और सेना की फायरिंग में 17 लोग मारे गए और 100 घायल हो गए.

Read more

कश्मीर की तकली़फ समझिए

कोई क्यों न सरकार पर गुस्सा हो. अगर ईद पर भी एक-दूसरे को बधाई न दे पाएं तो ईद मनाना बेकार हो जाता है. ईद त्योहार ही प्यार, मोहब्बत और भाईचारे का है. सारी दुनिया में इसे हर्ष- उल्लास के साथ मनाया गया, लेकिन कश्मीर में लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाए.

Read more

सरकार प्रॉपर्टी डीलर बन गई है

विरोध के बदले गोली. बच्चे, बूढ़े, जवान, महिलाएं यानी समाज का हर तबका लाठी-डंडों के साथ एक साथ खड़ा था. किसान आंदोलन की यह आग आगरा, मथुरा और अलीगढ़ के रास्ते पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में फैल गई. किसानों के इस उग्र विरोध के पीछे सरकार का अक्खड़ रवैया है, जो 10,000 करोड़ रुपये के यमुना एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट के लिए उनकी ज़मीनों को औने-पौने दामों पर अधिग्रहीत करना चाहती है, लेकिन यह तो केवल शुरुआत है.

Read more

दम तोड़ता लोकतंत्र

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत के सामान्य निर्वाचन-2010 का शंखनाद हो चुका है. ये चुनाव 15 सितंबर से लेकर 31 अक्टूबर के बीच होंगे. उधर सूबे के आदिवासियों में केंद्र और राज्य सरकार के प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही है.

Read more