54 साल की उम्र में रिटायरमेंट लेने जा रहे अलीबाबा के चेयरमैन जैक मा

चीन के अलीबाबा समूह के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन जैक मा (54) ने सोमवार को अपने उत्तराधिकारी की घोषणा की। 46 साल

Read more

चुनावी राजनीति से उमा भारती का संन्यास, पार्टी के लिए काम करती रहेंगी

भाजपा की वरिष्ठ नेता साध्वी उमा भारती ने चुनावी राजनीति से संन्यास की घोषणा की है. उम्र और स्वास्थ्य का

Read more

अब रिटायरमेंट के दिन ही मिल जाएगा पेंशन और पीएफ का पैसा

नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) की तरफ से अपने सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश दिया है कि अब

Read more

एकांत के लिए रेगिस्तान

जब इंसान वृद्धावस्था में आता है तो उसे एकांत की ज़रूरत महसूस होती है. आपने बुढ़ापे में जंगल जाने की बात तो सुनी होगी, लेकिन एक बुज़ुर्ग ने जंगल के बजाय रेगिस्तान में रहना ज़्यादा पसंद किया. टोक्यो के एक 76 वर्षीय वृद्ध ने अपना घर-बार छोड़ दिया और वह रेगिस्तान में रहने चले गए.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः वित्त मंत्रालय के बाबू

वित्त मंत्रालय में कुछ नई चीज़ें हो रही हैं. अकसर देखा जाता है कि जो अधिकारी किसी मंत्री या सरकार के नज़दीकी होते हैं या फिर उनके व़फादार होते हैं, उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद कोई पद दे दिया जाता है. सामान्य तौर पर सचिव रैंक के अधिकारियों को सेवा विस्तार नहीं दिया जाता है, क्योंकि उनकी सेवानिवृत्ति के साथ कई लोग आस लगाए रहते हैं कि इस बार उनकी बारी आने वाली है.

Read more

पर्यावरण संबंधी मुकदमेबाज़ी का नया युग

भारत एक ऐसा देश है, जिसका पर्यावरण संबंधी आंदोलनों, ज़मीनी स्तर पर सक्रियता और उत्तरदायी उच्च न्यायपालिका का अपना समृद्ध इतिहास रहा है. ऐसे देश में 2011 का वर्ष पर्यावरण संबंधी मुकदमेबाज़ी का अत्यंत महत्वपूर्ण वर्ष अर्थात मील का पत्थर साबित हुआ है. यद्यपि पर्यावरण संबंधी मुक़दमेबाज़ी पिछले तीन दशकों में काफ़ी बढ़ गई है, लेकिन पर्यावरण और वन मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय हरित अधिकरण की स्थापना के कारण 2011 का वर्ष फिर भी काफ़ी विशिष्ट है.

Read more

दिल्ली का बाबू : राजस्थान के बाबुओं की परेशानी

राजस्थान के बाबुओं के लिए फिज़ूल़खर्ची अब महंगी पड़ सकती है. पहले तो उनके विदेश जाने को लेकर सरकार ने रु़ख कड़ा कर दिया है. सरकार चाहती है कि बाबू अपने पहले के यात्रा खर्च का विवरण देने के बाद ही आगे विदेश यात्रा करेंगे. यही नहीं सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव सीके मैथ्यु ने एक सर्कुलर निकाला है, जिसमें इस बात का ज़िक्र किया गया है कि बाबुओं को क्या करना है और क्या नहीं करना है.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः भ्रष्टाचार, बाबू और राजनेता

हाल में आंध्र प्रदेश के दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बी पी आचार्य एवं वाई श्रीलक्ष्मी को भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किया गया. इस वजह से आंध्र प्रदेश के बाबुओं और नेताओं के बीच विवाद पैदा होता दिख रहा है.

Read more

संपत्ति का ब्योरा कब देंगे

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाबुओं के बीच फैले भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए जो क़दम उठाए, वे कई दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए आधार बने. भले ही नीतीश कुमार को इसमें कुछ हद तक सफलता मिली है, लेकिन उनका प्रयास का़फी नहीं है. उन्हें इसके लिए और प्रयास करने की ज़रूरत है.

Read more

दिल्ली का बाबू: काम के बोझ के मारे

प्रवर्तन निदेशालय की जांच की गति कुछ शिथिल होती दिख रही है. इसका कारण हाई प्रोफाइल मुकदमों से निपटने का दबाव अथवा काम की अधिकता हो सकता है. निदेशालय पर हसन अली मनी लांड्रिंग, 2-जी स्पेक्ट्रम, आईपीएल, कॉमनवेल्थ और हाल में चर्चा में आए 400 करोड़ के बैंक घोटाले की जांच का भार है.

Read more

रिटायरमेंट, पुनर्नियुक्ति, इस्‍तीफाः निदेशक की मनमानी सब पर भारी

पटना का इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, अपनी तमाम विशेषताओं के बावजूद आजकल विवादों से घिरा हुआ है और इसके केंद्र में हैं संस्थान के निदेशक. संस्थान के वर्तमान निदेशक डॉ. अरुण कुमार का कार्यकाल और क्रियाकलाप विवादों से भरा हुआ है. अपनी मनमर्ज़ी चलाते हुए उन्होंने तमाम नियम क़ानून को ताक़ पर रख दिया है.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः बदलाव की बयार

देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन (सीबीआई) आजकल का़फी व्यस्त है. हाल के दिनों में जिस तरह एक के बाद एक घोटाले सामने आ रहे हैं, सीबीआई के अधिकारी जांच कार्यों में बुरी तरह उलझे हुए हैं.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः फैसले के पीछे क्या है?

देश के शीर्ष नौकरशाहों की जमात पहले ही कैबिनेट सचिव के एम चंद्रशेखर को एक साल के सेवा विस्तार से हैरत में थी, लेकिन कैबिनेट सचिव के लिए चार साल की निश्चित कार्यावधि के केंद्र सरकार के फैसले ने तो मानों उनके पैरों तले की ज़मीन ही खिसका दी है.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः बाबुओं को लगा झटका

सरकार ने एक ही झटके में तीन आईएएस अधिकारियों को जबरन सेवानिवृत्ति देने का फैसला लिया है. इसकी वजह उनका खराब सर्विस रिकॉर्ड है. यदि यह प्रक्रिया आगे भी जारी रही तो इसे एक अच्छी शुरुआत माना जा सकता है.

Read more

अलविदा मुरलीः तुम्हारी फिरकी का जादू दुनिया याद रखेगी

महान खिलाड़ी रिकॉर्ड बनाने के लिए नहीं खेलते. न ही वे रिकॉर्ड के मोहताज होते हैं. वे स़िर्फ अपना खेल खेलते हैं, रिकॉर्ड तो अपने आप बन जाता है. श्रीलंका और भारत के बीच शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के पहले मैच के बाद ही श्रीलंकाई गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन संन्यास लेने वाले हैं.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः सुधार के लिए बिल

सेवानिवृत्ति के बाद नियामक संस्थाओं के साथ जुड़ने के सपने संजो रहे नौकरशाहों के लिए योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया का बयान चिंता का कारण बन सकता है. नियामक संस्थाओं में सुधार के लिए प्रस्तावित बिल पर चर्चा करते हुए अहलूवालिया ने कहा था कि सचिव स्तर से सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारी उन नियामक संस्थाओं से न जुड़ें तो अच्छा है, जिनसे सेवाकाल में उनका वास्ता रहा है.

Read more

सर्वोच्च न्यायालय का विभाजन : एक खतरनाक खेल

कानून मंत्रालय द्वारा भारत के सर्वोच्च न्यायालय को संवैधानिक खंड और अपीलीय खंड में बांटने के मुद्दे का बारीक़ी से परीक्षण किए जाने की ख़बर है. यह विधि आयोग की अनुशंसाओं पर आधारित है. विधि आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय को विभाजित करने और संविधान संबंधी मामलों एवं इससे जुड़े दूसरे मसलों को देखने के लिए दिल्ली में एक संवैधानिक पीठ और चार अलग-अलग जगहों पर अभिशून्य पीठ स्थापित करने की अनुशंसा की है.

Read more

मेरी दुनिया

मैं अब राजनीति से संन्यास लेना चाहता हूं.
राजनीति से संन्यास? लकिन क्यों?
अब में अपनी क्षमता और योग्यता का उपयोग सिर्फ परिवार के कामकाज में करूंगा.
क्या?।।
ओबामा स्टाइल में हाइटेक मार्केटिंग, विज्ञापन, मीडिया मैंनेजमेंट से लेकर मनमोहन सिंह का बुरा—भला कहने तक….. सब किया. पर पीएम न बन सका.
2004 चुनाव हारे.
2009चुनाव हारे.
आखिर कब तक अपनी योग्यता का लाभ पार्टी को देता रहूगां?
मेरी प्रार्थना है, आप राजनीति से संन्यास न लें.
तुम चाहती हो मैं संन्यास न लूं. अपनी काबिलियत का उपयोग राजनीति में ही करूं. परिवार के कामकाज पर नही.
यही बेहतर होगा.
किसके लिए बेहतर होगा? देश. संघ या पार्टी के लिए?
परिवार के लिए।।

Read more