इन स्मार्टफोन्स में व्हाट्सएप ने बंद कर दी अपनी सेवाएँ

नई दिल्ली : साल 2017 की शुरुआत में पुराने स्मार्टफोन्स ग्राहकों के लिए बुरी खबर है दरअसल कुछ पुराने स्मार्टफोन्स चलाने वाले

Read more

सेना में भ्रष्टाचार का बोलबाला मुंह खोलने वाला पागल घोषित होगा

पदकों के लिए फर्जी मुठभेड़, हथियार माफियाओं से मिलीभगत, अवैध धन के लिए जमीन घोटाला और तरक्की के लिए तिकड़म

Read more

दिल्‍ली का बाबूः ईमानदारी की सज़ा

हरियाणा कैडर के भारतीय वन सेवा के अधिकारी संजीव चतुर्वेदी को भ्रष्टाचार उजागर करने की क़ीमत चुकानी पड़ रही है. संजीव चतुर्वेदी ने पिछले साल ही केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए राज्य सरकार से अनुमति मांगी थी, लेकिन हरियाणा सरकार ने उन्हें अनुमति नहीं दी, जबकि केंद्र सरकार ने हरियाणा सरकार से उन्हें अनुमति देने के लिए कहा था.

Read more

बिहारः सेवा यात्रा में सुशासन की पोल खुली

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चार दिवसीय चंपारण सेवा यात्रा ने सुशासन की पोल खोल दी है. मुख्यमंत्री के मोतिहारी पहुंचते ही पंचायत शिक्षकों द्वारा मानदेय भुगतान के लिए किया गया हंगामा, पुतला दहन, बिजली का ग़ायब होना, पंचायती राज के जन प्रतिनिधियों का आंदोलन एवं अभियंत्रण महाविद्यालय में व्याप्त कुव्यवस्था को लेकर छात्रों का हंगामा तथा सभाओं में जनता के बीच उत्साह न होना साबित करता है कि लोग सरकार से खुश नहीं हैं.

Read more

मदन लाल मीणा संयुक्त सचिव बने

1983 बैच के आईएएस अधिकारी मदन लाल मीणा को राजस्व विभाग में संयुक्त सचिव बनाया गया है. वह अनूप कुमार श्रीवास्तव की जगह लेंगे. अनूप को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव बनाया गया है.

Read more

बजट किसके लिए है

ऐसा कहा जाता है कि प्रसिद्ध अभिनेत्री सराह बेमहर्ड जब डिक्शनरी भी पढ़ती थीं तो लोगों की आंखों में आंसू ला देती थीं. प्रणव मुखर्जी भी इसके का़फी क़रीब नज़र आए, जब उन्होंने सर्विस टैक्स के लिए नकारात्मक सूची वाले क्षेत्रों को पढ़ना शुरू किया. वित्त मंत्री को यह नकारात्मक सूची क्यों पढ़नी चाहिए, यह एक रहस्य है.

Read more

बिहार फर्ज़ी दाखिले से सुशासन पर शक

सेवा यात्रा के क्रम में पिछले दिनों मुख्यमंत्री मधुबनी के राजकीय अंबेडकर आवासीय स्कूल में गए तो उन्हें कुछ चौंकाने वाले सवालों से रूबरू होना पड़ा. एक छात्र ने कहा कि छत से पानी टपकता है, तो दूसरे ने कहा कि यहां शौचालय नहीं है. मुख्यमंत्री ने शिक्षा सचिव अंजनी सिंह से कहा कि बिना शौचालय के आवासीय स्कूल कैसे हो सकता है.

Read more

बिहार : नीतीश की सभा में कुर्सियां क्यों उछलीं

सत्ता की राजनीति में कुर्सियों का हिलना-डुलना शुभ नहीं माना जाता है. ऐसे में अगर कुर्सियां उछाली जाने लगें तो उसे ख़तरे की घंटी ही समझिए. सेवा यात्रा के दौरान बिक्रमगंज में मुख्यमंत्री की सभा में जब नाराज़ लोगों ने कुर्सियां लहरानी शुरू कर दीं तो सभी अवाक रह गए. पटना में फोन की घंटियां घनघनाने लगीं.

Read more

बिहारः कोसी के दर्द से अनजान नीतीश

मुख्यमंत्री की सेवा यात्रा के चतुर्थ चरण का आगाज़ कोसी की माटी जलई के तेलवा गांव से हुआ. गांव के लोग कुछ करिश्मे का इंतज़ार कर रहे थे. चुनाव को छोड़कर आम समय कोई मुख्यमंत्री अमूमन गांव नहीं जाता है.

Read more

पूरा देश अव्यवस्था का शिकार हैं

पुलिस की वर्दी की तरफ सभी की निगाहें टिकी होती हैं और मुझे यकीन है कि यह वर्दी पहन कर और इस उच्च सेवा का हिस्सा बनकर आप लोग भी गर्व महसूस करते हैं. मैं आपका ध्यान सरदार वल्लभ भाई पटेल के एक कथन की ओर दिलाना चाहूंगा, जिनके नाम पर इस एकेडमी का नामकरण किया गया है.

Read more

आरटीआई से जुडी़ कुछ ज़रुरी बातें

भारत एक लोकतांत्रिक देश है. लोकतांत्रिक व्यवस्था में आम आदमी ही देश का असली मालिक होता है. इसलिए मालिक होने के नाते जनता को यह जानने का हक़ है कि जो सरकार उसकी सेवा के लिए बनाई गई है

Read more

दिल्ली का बाबू: चुनाव पूर्व जंग

कांग्रेसी नेता एवं पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह ने दो वरिष्ठ अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने सेवा नियमों का उल्लंघन करते हुए अकाली दल सरकार का खुले तौर पर साथ दिया. अमरेंद्र सिंह ने दोनों अधिकारियों के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत की है

Read more

अतुल बने मुख्य सलाहकार

उत्तर प्रदेश कैडर और 1974 बैच के आईएएस अधिकारी अतुल चतुर्वेदी को कैबिनेट सचिवालय में मुख्य सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया गया है. उन्हें तीन महीने के लिए इस पद पर तैनात किया गया है. ग़ौरतलब है कि चतुर्वेदी इस्पात मंत्रालय में सचिव थे और रिटायर हो चुके थे.

Read more

अरविंद बनेंगे जेएस

आंध्र प्रदेश कैडर और 1991 बैच के आईएएस अधिकारी अरविंद कुमार अभी खाद्य एवं जन वितरण विभाग में निदेशक पद पर तैनात हैं. उन्हें संयुक्त सचिव बनाकर वित्तीय सेवा विभाग में भेजा जा सकता है. वह के वी इपेन की जगह ले सकते हैं.

Read more

ईश्वरीय सेवा के निमित्त

कभी आपने सोचा कि कोई व्यक्ति महात्मा, साधु-संत क्यों बनता है और कोई गृहस्थ व्यापारी, चोर, डाकू, वैज्ञानिक, डॉक्टर या भिखारी क्यों बनता है?

Read more

गुजराल को सेवा विस्तार

हरियाणा कैडर और 1976 बैच के आईएएस अधिकारी आर एस गुजराल, जिन्हें हाल में राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के चेयरमैन का पद सौंपा गया था, को तीन महीने का अतिरिक्त सेवा विस्तार मिल गया है.

Read more

बाबा की सीख

बाबा की हर महिमा के पीछे कोई न कोई शिक्षा ज़रूर छिपी होती है. ऐसी ही एक कहानी आपको सुनाते हैं. शिरडी में प्रति रविवार को बाज़ार लगता है. इसी दिन हेमाडपंत बाबा की चरण-सेवा कर रहे थे. शामा बाबा के बाईं ओर व वामनराव बाबा के दाहिनी ओर थे. इस अवसर पर बूटीसाहेब और काकसाहेब दीक्षित भी वहां उपस्थित थे. तब शामा ने हंसकर अण्णासाहेब से कहा कि देखो, तुम्हारे कोट की बांह पर कुछ चने लगे हुए-से प्रतीत होते हैं.

Read more

सबसे छोटा जवान

किसी भी देश की सेना में भर्ती के लिए कम से कम कितनी उम्र होनी चाहिए, इसका अंदाज़ा सभी को है, लेकिन कोई आपको बताए कि यूक्रेन में एक आठ साल के बच्चे को सेना में अनिवार्य भर्ती का बुलावा आया है तो ज़ाहिर है, आपको आश्चर्य होगा.

Read more

सेना सेवा कोर स्‍थानांतरणः गया के लिए खतरे की घंटी

गया में 35 साल पहले स्थापित सेना सेवा कोर केंद्र (उत्तर) को बंगलूर स्थानांतरित किए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. इस पर राजनीति भी गर्म हो गई है. सेना सेवा कोर केंद्र (उत्तर) बचाव संघर्ष समिति तथा शहर के कथित बुद्धिजीवियों की ओर से नवगठित आर्मी सेंटर (नॉर्थ) बचाओ अभियान समिति की ओर से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है.

Read more

उत्तर प्रदेशः माफिया के हवाले स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं

देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं पर माफियाओं का एकछत्र राज कायम है. स्वास्थ्य सेवाओं से संबद्ध सरकारी संस्थाओं और निजी कंपनियों का गठजोड़ इतना सघन हो गया है कि राजधानी लखनऊ में डेंगू से ताबड़तोड़ हुईं कई मौतों के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ को बीमारी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग के आला अफसरों को अदालत में तलब करना पड़ा.

Read more

कोटवारों को इंसाफ कब मिलेगा

कोटवार एक ऐसा शब्द जो दूर दराज में रहने वाले ग्रामीणों और प्रशासन के बीच सेतु का काम करता है. सालों से ग्रामीण प्रशासनिक सेवा में लगे ये लोग कोटवार कहे जाते हैं.

Read more

सर्विस इकोनोमी या सर्वेंट इकोनोमी

कुछ दिन पहले प्रकाशित एक किताब के मुताबिक़ आज से सौ साल पहले इंग्लैंड में घरेलू नौकर रोजगार का सबसे बड़ा स्त्रोत था. साधारण सा दिखने वाला यह तथ्य एक वर्ग-आधारित समाज में व्याप्त असमानता का सटीक चित्रण करता है और विक्टोरियन एवं उसके बाद के समाज में धन और सत्ता के बीच नजदीकी रिश्तों के बारे में भी बताता है.

Read more

लाचार-बदहाल राजेंद्र कुष्ठाश्रम

राजेंद्र कुष्ठाश्रम में कुष्ठ रोगियों की दुनिया वीरान हो गई है. आलम यह है कि बदहाली के कारण प्राय: कुष्ठ मरीज़ अपनी भूख मिटाने के लिए कुष्ठाश्रम को छोड़कर अन्य शहरों में चले गए हैं. महज़ चंद मरीज़ ही यहां कभी कभार आते हैं और चले जाते हैं. वे भी अगल-बगल के गांवों-बाज़ारों में भीख मांगने पर मजबूर हैं. ऐसा नहीं है कि यह हाल आश्रम में रहने वाले लोगों का ही है.

Read more