दलितों से किसे डर लगता है

शायद ही कोई ऐसा चुनावी मंच हो जहां से प्रधानमंत्री मोदी ने सबका साथ सबका विकास और संविधान को ग्रन्थ

Read more

एससी-एसटी, ओबीसी और ईबीसी को नीतीश का बड़ा तोहफा, न्यायिक सेवाओं में 50 फीसदी आरक्षण

बिहार की नीतीश सरकार ने न्यायिक सेवाओं में 50 फीसदी आरक्षण का एक अहम फैसला लिया है. मंगलवार को कैबिनेट

Read more

नई शिक्षा नीति का ड्राफ्ट : अल्पसंख्यकों में बेचैनी पैदा कर रहा है

आजादी के बाद देश में तीसरी बार शिक्षा नीति बन रही है. ध्यान रहे कि शिक्षा नीति पहली बार 1968

Read more

मुफ्‌त हुए बदनाम : न माया मिली ना राम

राज्यसभा चुनाव में ‘हॉर्स ट्रेडिंग’ के मामले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी द्वारा कांग्रेस विधायक निर्मला देवी एवं

Read more

दलित-आदिवासियों के ख़िलाफ़ हिंसा : इतने क़ानून फिर भी क्यों बढ़ते जा रहे हैं अपराध

पिछले दिनों दो खबरें आईं, एक हरियाणा से और दूसरी गुजरात के सौराष्ट्र से. हरियाणा में एक दलित लड़की से

Read more

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में दलितों और पिछड़ों को आरक्षण देने पर जोर : चुनावी बिसात पर भाजपा का दांव

एएमयू में आरक्षण मसले पर दलितों और पिछड़ों को गोलबंद करने का अभियान यूपी के सांसदों-विधायकों को दिल्ली बुलाकर समझाया

Read more

समाचार एजेंसी यूएनआई के तीन कर्मचारियों को जेल

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने समाचार एजेंसी यूएनआई के दो वरिष्ठ पत्रकारों समेत तीन लोगों की ज़मानत याचिका ख़ारिज़

Read more

अगर न मिले स्कूल ड्रेस या किताब

सरकारी स्कूलों में बच्चे पढ़ने आएं, इसके लिए बहुत सारी सरकारी योजनाएं बनाई गई हैं. जैसे यूनीफॉर्म और किताबों का

Read more

सीएनटी एक्‍ट विवाद थमेगा नहीं

सीएनटी एक्ट को लेकर पिछले दिनों उठा विवाद फिलहाल थम गया है, लेकिन राख के नीचे चिंगारी दबी है. यह चिंगारी कभी भी भड़क सकती है. पिछले दिनों सीएनटी एक्ट के एक प्रावधान को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया था.

Read more

अनुसूचित जाति आयोग के निशाने पर राखी

राखी सावंत के रियलिटी शो राखी का इंसा़फ में न्याय की उम्मीद में आए एक युवक ने आत्महत्या कर ली थी, उसके बाद से राखी पर मुसीबतों का दौर खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा. प्रोग्राम के प्रसारण के दौरान राखी की टिप्पणी से व्यथित झांसी के एक युवक लक्ष्मण प्रसाद ने आत्महत्या कर ली थी.

Read more

कोरकू बोली का शब्‍दकोष और व्‍याकरण तैयार

मध्य प्रदेश के आदिवासियों की भाषा और बोली का़फी समृद्ध और सक्षम मानी जाती है. इस अलिखित भाषा और आदिवासी बोलियों में ज्ञान-विज्ञान और कथा साहित्य का अनंत और अति प्राचीन भंडार मौजूद है. लेकिन आधुनिकता की आंधी में इन भाषाओं और बोलियों पर दूसरी भाषाओं और बोलियों का ज़ोरदार प्रभाव आक्रमण की तरह घातक सिद्ध हो रहा है.

Read more