कांग्रेस को दोस्ती निभाना नहीं आता

वे सांसद कहां हैं, जो अन्ना हजारे को यह समझा रहे थे कि संसद की एक गरिमा होती है, उसे बाहर से डिक्टेट नहीं किया जा सकता है. वे आज चुप क्यों हैं? संसद की गरिमा बचाने के लिए, देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए उन्हें अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए. कैश फॉर वोट भारत के इतिहास का सबसे शर्मनाक स्कैम है. देश के सांसद बिकते हैं, ऐसा सोचकर ही घिन होती है.

Read more

बड़े पत्रकार, बड़े दलाल-II

नीरा राडिया के बरखा दत्त एवं वीर सांघवी जैसे बड़े पत्रकारों के साथ गठजोड़ के बारे में चौथी दुनिया ने महीनों पहले अपने पाठकों को बताया था कि कैसे सुपर दलाल नीरा राडिया ने इन प्रसिद्ध पत्रकारों का इस्तेमाल कुछ कॉरपोरेट घरानों को फायदा पहुंचाने और ए राजा को संचार मंत्री बनवाने के लिए किया. इसके बाद चौथी दुनिया के पास कई पाठकों के पत्र आए, जो नीरा राडिया एवं प्रभु चावला, वीर सांघवी एवं बरखा दत्त जैसे प्रसिद्ध पत्रकारों के बीच हुई बातचीत को सुनना चाहते थे. हमने इनके बीच हुई बातचीत को अलग-अलग जगहों पर उपलब्ध टेप से साभार लिया है. प्रधानमंत्री कार्यालय का कहना है कि उसके पास इन तीनों पत्रकारों और नीरा राडिया के बीच हुई बातचीत के हज़ारों घंटे के टेप उपलब्ध हैं.

Read more

प्रधानमंत्री जी, देश की ओर ईमानदारी से देखिए

लोकसभा और राज्यसभा में एक दिन का शोरशराबा और बात ख़त्म. केवल रस्म अदायगी हुई. एक पत्रिका ने छापा कि भारत सरकार की एक एजेंसी फोन टेप कर रही है. नाम आए, नीतीश कुमार और दिग्विजय सिंह के. पर यह सतही सच्चाई है. यह हमारा ध्यान बंटाने की सफल कोशिश हुई है. साजिश बहुत गहरी है, जिसके सिरे न्यायाधीशों, राजनीतिज्ञों और पत्रकारों तक पहुंचते हैं.

Read more