कांग्रेस के साथ तालमेल, सीपीएम के लिए घाटे का सौदा

देश की सबसे बड़ी वामपंथी पार्टी सीपीएम का पांच दिवसीय 22वां पार्टी कांग्रेस 22 अप्रैल को हैदराबाद में सम्पन्न हो

Read more

जनसमस्याओं के समाधान की इच्छाशक्ति किसी भी राजनीतिक दल में नहीं है

अभी भी देश में ऐसे लोगों की बड़ी संख्या है, जो चुनाव में किस पार्टी ने क्या किया और कौन

Read more

एक नए जातीय संघर्ष का संकट सामने खड़ा है

देश में एक बहुत ही दुखद स्थिति पैदा की जा रही है. इसे पैदा करने में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के

Read more

त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड की चुनाव तारीखों का एलान, यह है वर्तमान दलीय स्थिति

त्रिपुरा, मेघायल और नगालैंड के विधानसभा चुनाव के लिए आज तारीखों का ऐलान हो गया. मुख्य चुनाव आयुक्त ए के

Read more

त्रिपुरा : एक पत्रकार की हत्या… लोकतंत्र में लोक को कमज़ोर करने की चाल

सूचना 21वीं शताब्दी का सबसे ताकतवर हथियार है. यहां तक कि आम आदमी के बोलने का अधिकार भी सूचना पाने

Read more

कौन सच्चा, कौन झूठा : राज्य कहे अफस्पा हटाओ केंद्र कहे अफस्पा लगाओ

अफस्पा (आर्म्ड फोर्सेस स्पेशल पावर एक्ट) महज एक शब्द नहीं, बल्कि एक विवादास्पद कानून है, जिसकी आड़ में कई निर्दोष

Read more

मज़बूरी ऐसी कि एक माँ को बेचना पड़ा ‘कलेजे का टुकड़ा’

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : जिंदगी कभी-कभी दो राहे पर ला कर खड़ा कर देती हैं जिसमें से किसी

Read more

नौकरियां घट रही हैं, देश आगे बढ़ रहा है

भारत में रोज़गार हमेशा से एक बड़ी समस्या रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां हर साल एक करोड़ से

Read more

कोकराझार से कश्मीर की शांति यात्रा के मायने

कोकराझार से कश्मीर तक की साइकिल यात्रा आरंभ हो गयी है. साठ दिनों का सफर तय करते हुए यह यात्रा

Read more

मोदी का बांग्लादेश दौरा : रिश्तों का नया अध्याय

1971 में बांग्लादेश के गठन के बाद भारत और बांग्लादेश के बीच 16 मई, 1974 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी

Read more

क्या भारत में वामपंथी राजनीति ख़त्म हो जाएगी?

एक समय था, जब वामपंथ का संगठनात्मक ढांचा तक़रीबन पूरे देश में मौजूद था, लेकिन 1990 के दशक की राजनीतिक

Read more

News Room Chat : By-Poll Results

News Room Chat : By-Poll Results

Read more

ब्रू शरणार्थियों के लिए बेमानी है लोकतंत्र का यह महापर्व

चुनाव में जनता के लिए मतदान से बढ़कर कुछ भी नहीं होता, लेकिन जिन्हें मतदान से वंचित कर दिया जाए

Read more

15वीं लोकसभा और उपेक्षा का सिलसिला जारी

पूर्वोत्तर के लोग सड़क, शिक्षा, बिजली, पानी एवं रोज़गार के मामले में आज भी सौ साल पीछे हैं. गांवों में

Read more

बांग्लादेश चुनाव : भारत के लिए कौन होगा फ़ायदेमंद

शेख हसीना हमेशा से ही भारत से मित्रता की पक्षधर रही हैं. दूसरी ओर बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी की अध्यक्ष खालिदा

Read more

International trade fair, Delhi-2011

International trade fair, Delhi-2011

Read more

महाराष्ट्र में डी वाई पाटिल ग्रुप की हकीकत शिक्षा का माफिया राज

शिक्षा माफिया. इस देश को नव उदारवाद का एक उपहार. धंधा ऐसा कि हींग लगे न फिटकरी, रंग चोखा आ जाए. और जब भैया हों कोतवाल तो फिर डर कैसा, चाहे जो मर्जी हो, वह कर लो. महाराष्ट्र के शिक्षा जगत में भी सालों से कुछ ऐसा ही हो रहा है. डी वाई पाटिल ग्रुप, एक ऐसा ही नाम है. पेश है, चौथी दुनिया की खास रिपोर्ट.

Read more