प्रधानमंत्री की नेपाल यात्रा के राजनीतिक मायने

2019 में लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने अपनी गतिविधि खासकर बिहार में और अधिक जोर-शोर से शुरू कर दी

Read more

पश्चिम बंगाल में टावर से लता मिला शव, होगी CID जांच

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में एक और शव मिला है.पुरुलिया के डाभा गांव में यह शव बिजली के खंभे से

Read more

ग़रीबी का सरकारी इश्तेहार

राजस्थान में बीपीएल कार्डधारियों के लिए एक अनूठा सरकारी फरमान आया है. इसके अनुसार, गरीबों को अगर सरकारी फायदा लेना

Read more

बंगाल : दुर्लभ प्रजाति की छिपकलियों के साथ धरे गए तस्कर, कीमत करोड़ों में

नई दिल्ली : वेस्ट बंगाल के फालाकाटा के जंगलों से सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने कुछ तस्करों को गिरफ्तार किया

Read more

बासी वादों का बेनूर जश्न

कांग्रेस ने ‘3 साल 30 तिकड़म’  नाम से एक वीडियो जारी कर सरकार पर तमाम मोर्चों पर नाकाम होने का

Read more

जेलों में मुसलमानों व दलितों की संख्या ज्यादा क्यों

दस साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने देश में मुसलमानों की स्थिति को जानने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट के

Read more

आलू के औषधीय गुण, जो आपको दिलाये रोगों से निजाद

परिचय मूलतः दक्षिण अमेरिका के शीतोष्ण भागों में प्राप्त होता है. स्पेन, पुर्तगाल तथा यूरोप में 16वीं सदी में तथा

Read more

जानिए कमल के हैरान करने वाले औषधीय गुण

परिचय कमल पानी में उत्पन्न होने वाली वनस्पति है. इसके पत्र चौड़े होते हैं, जो थाली की तरह पानी में

Read more

कपास

परिचय आयुर्वेद की प्राचीन संहिताओं एवं निघण्टुओं में कपास का वर्णन प्राप्त होता है. कपास की रूई का प्रयोग वस्त्र

Read more

कहां गई दलितों की ज़मीन

भूदानी आचार्य विनोबा भावे 18 अप्रैल 1951 को आंध्रप्रदेश के पोचमपल्ली गांव की यात्रा पर थे. वहां वे 40 दलित

Read more

मिनी पाकिस्तान के विवाद में भी उलझ गए बंगाल के मंत्री : पचड़ा फंसाने में माहिर हैं हाकिम

पश्‍चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हाकिम चुनाव के दौरान लगातार विवादों में घिरे रहे. पहले तो नारदा कांड

Read more

झारखंड पुलिस की विशेष शाखा ने किया खुलासा : धन कमाने में लगे हैं नक्सली

बन्दूक की नली से सत्ता की राह निकालने की बात करने वाले नक्सली अब अपने तमाम सिद्धांतों को दरकिनार कर

Read more

बेगूसराय और वामपंथ का पुराना नाता है

राजधानी दिल्ली से लगभग एक हजार किमी की दूरी पर स्थित बिहार का बेगूसराय जिला हाल ही में जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय

Read more

मोदी का बांग्लादेश दौरा : रिश्तों का नया अध्याय

1971 में बांग्लादेश के गठन के बाद भारत और बांग्लादेश के बीच 16 मई, 1974 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी

Read more

बांग्लादेश चुनाव : भारत के लिए कौन होगा फ़ायदेमंद

शेख हसीना हमेशा से ही भारत से मित्रता की पक्षधर रही हैं. दूसरी ओर बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी की अध्यक्ष खालिदा

Read more

ममता के बंगाल में मुसलमान

पश्चिम बंगाल के मुसलमानों की बात करनी ज़रूरी इसलिए है, क्योंकि देश में जम्मू-कश्मीर और असम के बाद मुसलमानों की तीसरी सबसे बड़ी आबादी पश्चिम बंगाल में रहती है. राज्य की लगभग साढ़े छह करोड़ की आबादी में मुसलमानों की संख्या दो करोड़ के आसपास है.

Read more

वृंदावन की विधवाएं : मोक्ष की आस में नर्क से बदतर जीवन

वृंदावन यानी भगवान श्रीकृष्ण की नगरी, गोपियों के बीच गाय चराने वाले बंसी बजैया की नगरी, राधा रानी के साथ रासलीला रचाने वाले कृष्ण कन्हैया की नगरी.

Read more

ममता का तुगलकी रवैया

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इन दिनों अजीबोग़रीब बयानों और फरमानों की वजह से चर्चा में हैं. ताजा बयान में उन्होंने लोगों से न्यूज चैनलों को न देखने और म्यूजिक चैनल देखने की सलाह दी है. ममता का कहना है कि न्यूज चैनलों में उनके खिला़फ ख़बरें दिखाई जाती हैं.

Read more

बेहतर चुनाव के लिए बेहतरीन प्रयास

जिला निर्वाचन अधिकारी के तौर पर पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले में चुनाव कराना संतोषप्रद रहा. अभी तक हुए चुनाव के इतिहास में इस ज़िले में हुआ 2011 का चुनाव सबसे शांतिपूर्ण रहा. राजनीतिक दल, मीडिया तथा आम लोगों ने भी इस तथ्य की पुष्टि की. इस चुनाव से जुड़े सभी लोगों ने अपनी तऱफ से भरपूर समर्थन और सहयोग दिया.

Read more

किसानों की समस्याओं पर सरकारें कब संजीदा होंगी

हमारे देश में खेती को मानसून का जुआ कहा जाता रहा है. आधुनिकता से खेती में कई बदलाव आए, मगर खेती का जोखिम कम नहीं हुआ. अलबत्ता, आधुनिक खेती के चलते इसमें कई नए तरह के जोखिम ज़रूर जुड़ गए. अब भारत का किसान मौसम के जोखिम के अलावा सरकारी तंत्र और आधुनिक टेक्नोलॉजी के जोखिम भी एक साथ झेलता है. पश्चिम बंगाल के बर्दवान ज़िले में बीते 6 महीनों के भीतर 27 किसान अपनी जान दे चुके हैं.

Read more

दिल्ली का बाबू : ममता को बाबुओं की तलाश

पश्चिम बंगाल के बाबुओं के साथ सब ठीक नहीं हो रहा है. पहले तो ममता बनर्जी ने उन्हें केंद्र में जाने से मना कर दिया, जो डिपुटेशन पर जाना चाहते थे. इससे बाबुओं को परेशानी हुई. अब वह राज्य के कई प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति के लिए बाबुओं की खोज कर रही हैं.

Read more

वामपंथियों का लोकतांत्रिक स्टालिनवाद

इस बात पर कोई बाजी नहीं लगाई गई कि पश्चिम बंगाल में मिली बुरी हार के बाद सीपीएम के कितने नेता इसकी ज़िम्मेदारी लेंगे और इस्ती़फा देंगे. ज़ाहिर है, कम्युनिस्ट पार्टी इस तरीक़े से काम भी नहीं करती. भारत में कम्युनिस्ट पार्टी का अस्तित्व थोड़ा दूसरे ढंग का है. यहां के कम्युनिस्टों ने लोकतांत्रिक पद्धति को स्वीकारा, जबकि दुनिया में कहीं भी कम्युनिस्टों ने इस प्रक्रिया को नहीं स्वीकारा, लेकिन जब बात पार्टी के आंतरिक संगठन की आती है तो वहां स्टालिनवाद का ही शासन दिखता है.

Read more

चुनाव परिणाम सभी राजनीतिक दलों के लिए खतरे का संकेत है

इतिहास करवट लेने जा रहा है और जब इतिहास करवट लेने वाला होता है तो इसके संकेत वह पहले से दे देता है. पांच विधानसभा चुनावों के परिणाम हमारे सामने हैं, जो किसी की जीत या किसी की हार से बड़ा संकेत हमें दे रहे हैं. हम इससे सीख लें या न लें, यह हम पर निर्भर करता है. पर अगर हम सीख लेना चाहें तो वह बिल्कुल साफ़ और स्पष्ट है कि इतिहास करवट लेने वाला है.

Read more

बंगाल चुनाव: वामपंथ जीता पर वामपंथी हार गए

बर्लिन की दीवार ढहने और सोवियत संघ के विघटन के कई सालों बाद हिंदुस्तान में पहली बार ऐसा लगने लगा है कि हथौड़ा और हंसिया वाला लाल झंडा बंगाल की खाड़ी में विलीन होने वाला है. पश्चिम बंगाल और केरल में एक साथ वाममोर्चे का स़फाया होना भारत ही नहीं, विश्व के लिए एक ऐतिहासिक घटना है.

Read more

सिर्फ छह महीने में पता चल जाएगाः ममता सफल होंगी या असफल मुख्यमंत्री

जनता ने तो सत्ता का पोरिवर्तन कर दिया है, अब पोरिवर्तन करने की बारी ममता बनर्जी की है. अकेले दम पर लगभग दो तिहाई सीटें बटोरने के बाद भी अगर ममता बनर्जी कांग्रेस को सरकार में शामिल होने का न्योता देती हैं तो इसे सिर्फ उनकी भलमनसाहत या कहें कि गठबंधन धर्म निभाने की बात नहीं माना जाना चाहिए.

Read more

पश्चिम बंगालः बदलाव की बयार और वाममोर्चा

राज्य विधानसभा चुनाव के इस आख़िरी दौर में नए-नए मुद्दों के ज़रिए राजनीतिक पैतरेबाज़ी के नित नए-नए रूप देखने को मिल रहे हैं. काला धन और भ्रष्टाचार का मुद्दा तो पूरे देश में दौड़ रहा है, पर बंगाल में आवासन मंत्री गौतम देव ने तृणमूल पर काला धन जुटाने का आरोप लगाकर चुनाव प्रचार को एक नई रंगत दे दी है.

Read more