Now Reading:
बेसिल डी ओलिवारा नहीं रहे

इग्लैंड के पुराने हऱफनमौला क्रिकेटर बेसिल डी ओलिवारा का निधन हो गया है. ओलिवारा वही क्रिकेटर हैं, जिन्हें 70 के दशक में साउथ अफ्रीका में व्याप्त रंगभेद नीति के  कारण अपने देश के लिए खेलने का मौक़ा नहीं मिला था. अश्वेत खिला़डी ओलिवारा का जन्म 1931 में साउथ अफ्रीका के कैपटावुन शहर में हुआ था. 60-70 के दशक में साउथ अफ्रीका में रंगभेद नीति चरम पर थी. इस कारण गोरों की टीम में उन्हें स्थान नहीं मिला. आ़खिर उन्होंने दूसरे देश इंग्लैंड के लिए खेलने का निर्णय लिया. वर्ष 1966 में उन्हें इंग्लैंड की टीम में जगह मिल गई. जल्द ही बतौर ऑल राउंडर उन्होंने टीम में जगह बना ली. इसके बाद 1968-69 में साउथ अफ्रीका दौरे के लिए जो इंग्लैंड की टीम चुनी गई, उसमें ओलिवारा का नाम भी शामिल था. यह बात साउथ अफ्रीका के क्रिकेट मठाधीशों को रास नहीं आई. उन्होंने इंग्लैंड से ओलिवारा को टीम से हटाने को कहा. इस घटना से विश्व क्रिकेट में साउथ अफ्रीका की बड़ी बदनामी हुई. इंग्लैंड ने ओलिवारा को टीम से नहीं हटाया और यह सीरीज रद्द हो गई. इस घटना के बाद विश्व क्रिकेट से साउथ अफ्रीका का बहिष्कार किया गया. साउथ अफ्रीका पर 1970 से 1991 तक टेस्ट क्रिकेट खेलने पर प्रतिबंध लग गया. इसका साउथ अफ्रीका को का़फी नुक़सान हुआ. साउथ अफ्रीका के कई क्रिकेटर्स का करियर बर्बाद हुआ. ओलिवारा ने इंग्लैंड के लिए 1966 से 1972 तक 44 टेस्ट मैच खेले, जिनमें 40.06 की औसत से 2484 रन बनाए. इसके अलावा 47 विकेट भी झटके. क्रिकेट इतिहास का जो पहला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया, उस इंग्लैंड की टीम में भी ओलिवारा शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.