Chauthi Duniya

Now Reading:
Happy Birthday Juhi : दिलकश अदाओं से जूही ने करोड़ो लोगों को बनाया दीवाना

Happy Birthday Juhi : दिलकश अदाओं से जूही ने करोड़ो लोगों को बनाया दीवाना

वर्ष 1984 में जूही चावला मिस इंडिया चुनी गईं. इसके बाद चावला को मिस यूनीवर्स प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का मौका भी मिला.

नई दिल्ली (प्रवीण कुमार ): बॉलीवुड की दिलकश अदाकारा जूही चावला 13 नवंबर को 50 साल की हो चकुी है. उनका जन्म 13 नवंबर 1967 को हरियाणा के अंबाला में हुआ था. उनके पिता एस चावला डॉक्टर थे. जूही चावला ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पंजाब के लुधियाना से पूरी की. इसके बाद उन्होंने आगे की पढ़ाई मुंबई के सिद्धेनम कॉलेज से की. वर्ष 1984 में जूही चावला मिस इंडिया चुनी गईं. इसके बाद चावला को मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का मौका भी मिला. इस प्रतियोगिता में उन्हें बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम्स पुरस्कार से सम्मानित किया गया. जूही चावला ने अपने सिने करियर की शुरुआत वर्ष 1986 में प्रदर्शित फिल्म सल्तनत से की थी.

वर्ष 1987 में प्रदर्शित कन्नड़ फिल्म प्रेमालोक जूही चावला के करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुई. लगभग चार वर्ष तक मायानगरी मुंबई में संघर्ष करने के बाद 1988 में नासिर हुसैन के बैनर तले बनी फिल्म क़यामत से क़यामत तक की सफलता के बाद वो बतौर अभिनेत्री फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में सफल हो गईं. फिल्म में दमदार अभिनय के लिए उन्हें उस वर्ष नवोदित अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार प्राप्त हुआ. 1990 जूही चावला के सिने करियर के लिए अहम वर्ष साबित हुआ. इस वर्ष रिलीज हुई उनकी फिल्में स्वर्ग और प्रतिबंध सुपरहिट हुईं.

राजनीति से प्रेरित फिल्म प्रतिबंध में दमदार अभिनय के लिए जूही चावला सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित की गई थीं. 1992 में पर्दे पर जूही चावला के अभिनय के विविध रूप देखने को मिले. इस वर्ष उनकी राधा का संगम, मेरे सजना साथ निभाना, बेव़फा से व़फा और बोल राधा बोल जैसी फिल्में प्रदर्शित हुईं, जो महिला प्रधान थीं. फिल्म बोल राधा बोल में जूही चावला ने गांव की एक अल्हड़ युवती का किरदार निभाया था, जिसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार से नामांकित किया गया. 1993 में जूही चावला को महेश भट्‌ट के निर्देशन में बनी फिल्म हम है राही प्यार के में काम करने का अवसर मिला. इस फिल्म में बेहतरीन अभिनय के लिए वे पहली बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गईं. इसी वर्ष उन्हें यश चोपड़ा की फिल्म डर में काम करने का मौका मिला, जो उनके करियर की एक और सुपरहिट फिल्म साबित हुई.

1995 में जूही चावला ने उद्योगपति जय मेहता के साथ शादी कर ली. 1999 में जूही ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया और शाहरुख खान के साथ मिलकर ड्रीम्स अनलिमिटेड बैनर की स्थापना की. इस बैनर के तहत उन्होंने फिर भी दिल है हिंदुस्तानी, अशोका, चलते चलते जैसी फिल्मों का निर्माण किया. जूही चावला के सिने करियर में उनकी जोड़ी आमिर खान के साथ काफी पसंद की गई. जूही चावला ने अपने बॉलीवुड करियर में कई सुपरहिट फिल्में दी हैं, जिनमें कयामत से कयामत तक, डर, यस बॉस, हम हैं राही प्यार के, राजू बन गया जैंटलमैन, साजन का घर, दीवाना मस्ताना, कर्ज चुकाना है, बोल राधा बोल, स्वर्ग, प्रतिबंध और सन ऑफ सरदार आदि शामिल हैं.

जूही की बेमेल शादी अब छलक रहा है दर्द –  पर्दे की जिंदगी और हकीकत में बड़ा फर्क होता है. बॉलीवुड में कई ऐसी शादियां हैं, जो बिल्कुल मेल नहीं खाती हैं. जूही चावला की शादी भी कुछ ऐसी ही है. साल 1984 में मिस इंडिया का खिताब पाने वाली जूही चावला ने बिजनेसमैन जय मेहता से शादी की है. जय मेहता और जूही की जोड़ी बेमेल नज़र आती है. जय जूही के सामने बूढ़े लगते हैं. शायद यही कारण भी है कि जूही ने उनको टाइमपास कह डाला.  ट्वीटर पर अपने प्रशंसकों से बात करते हुए जूही चावला ने जय मेहता को टाइमपास कह दिया. भले ही ऐसा उन्होंने मज़ाक में कहा हो, लेकिन यह सही है कि दोनों में कोई मेल नहीं है. आज फिल्मों से दूरी बना चुकी जूही टॉप की हीरोइनों में शामिल रही हैं. 1995 में जब जूही ने जय से शादी की, तो उनका करियर अपने पीक पर था. हालांकि शादी के बाद भी जूही ने कई शानदार फिल्में दी हैं. जूही परिवार को समय देने की वजह से ज्यादा फिल्में नहीं कर पाती हैं. उनके दो बच्चे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.