Now Reading:
प्रेस कांफ्रेंस में भावुक हुए तोगड़िया, लगाया एनकाउंटर की साजिश का आरोप
Full Article 3 minutes read

प्रेस कांफ्रेंस में भावुक हुए तोगड़िया, लगाया एनकाउंटर की साजिश का आरोप


विश्व हिंदू परिषद् के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने प्रेस कांफ्रेंस कर आरोप लगाया कि उनके एनकाउंटर की साजिश रची गई थी. उन्होंने कहा कि पुराने केस निकालकर मुझे फंसाया जा रहा है. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान तोगड़िया भावुक हो गए. उन्होंने कहा कि कुछ समय से मेरी आवाज दबाने का हर संभव प्रयास होता रहा. मैं हिंदू एकता के लिए प्रयास करता रहा. राम मंदिर बनाओ, गौ हत्या बंद करो, कश्मीरी हिंदुओं को बचाओ, जैसे मुद्दे मैं उठाता रहा.

गौरतलब है कि सोमवार सुबह तोगड़िया रहस्यमय तरीके से लापता हो गए थे और 12 घंटे बाद सड़क किनारे बेहोशी की हालत में मिले. किसी अनजान शख्स ने उन्हें एंबुलेंस के जरिए अस्पताल पहुंचाया था. इलाज के दौरान ही मंगलवार को उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस किया. उन्होंने कहा कि कल मकर संक्राति के दिन राजस्थान पुलिस का काफिला मेरा गिरफ्तारी वारंट लेकर आया. यह हिंदुओं की और मेरी आवाज दबाने की अनेक कदम का एक हिस्सा है.

उन्होंने कहा कि कल सुबह एक व्यक्ति मेरे रूम में आया और उसने कहा कि तुरंत निकलिए, आपका एनकाउंटर करने के लिए लोग निकले हैं. बाहर देखा दो पुलिस वाले थे. मन में आया कि कोई बहस करने आया है. फिर मेरे फोन पर कॉल आया उस पर कहा कि 16 पुलिस स्टेशन से राजस्थान पुलिस का काफिला गुजरात पुलिस के सहयोग से निकला है. उसके बाद मुझे लगा कि कुछ दुर्घटना हुई तो हमारा तो जो होगा तो होगा पूरे देश पर बुरी परिस्थिति खड़ी होगी. मैं इसी कपड़े में बाहर निकला. मैंने कहा कि मैं कार्यालय की ओर जा रहा हूं. ऑटो रिक्शा रोका. नजदीक जो कार्यकर्ता थे, उन्हें बैठाकर निकला.

उन्होंने बताया कि मैंने राजस्थान के सीएम और होम मिनिस्टर से संपर्क किया, तो पता चला कि वहां से कोई पुलिस नहीं आई. उसके बाद मैंने फोन स्विच ऑफ कर दिया. तोगड़िया ने कहा कि मैं अकेला ऑटो रिक्शा में कुछ दूर गया, मुझे चक्कर आने गया. , पसीना आने लगा. मैंने कहा हॉस्पिटल पहुंचाओ. रात को 10-11 बजे पता चला कि मैं हॉस्पिटल में था. पल्स 140 थी. तोगड़िया ने कहा कि मेरी गुजरात पुलिस या राजस्थान पुलिस से कोई शिकायत नहीं है. मैं बस यह जानना चाहता हूं कि आप मेरे कमरे की तलाशी लेने क्यों जा रहे थे. उन्होंने यह भी कहा कि जब डॉक्टर अनुमति देंगे, मैं न्यायालय के सामने समर्पण करूंगा. मैं न्यायालय से कभी भागा नहीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.