Now Reading:
नेशनल अवॉर्ड सेरेमनी में बवाल, 68 विजेताओं ने अवार्ड लेने से किया इनकार

नेशनल अवॉर्ड सेरेमनी में बवाल, 68 विजेताओं ने अवार्ड लेने से किया इनकार

national-award-ceremony-controversy

national-award-ceremony-controversy

नेशनल अवॉर्ड सेरेमनी आज दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित की जा रही है लेकिन उससे पहले एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया है. बता दें कि इस सेरेमनी में सिर्फ 11 विजेताओं को ही राष्ट्रपति खुद अपने हाथों से पुरस्कार देंगे लेकिन बाकी विजेताओं को पुरस्कार स्मृति ईरानी के हाथो से दिया जाएगा ऐसे में 131 विजेताओं में 120 विजेताओं ने फिल्म फेस्ट‍िवल के एडि‍शनल डायरेक्टर जनरल चैतन्य प्रसाद और राष्ट्रपति कार्यालय को लिखा है कि वे अवॉर्ड सेरेमनी में भाग नहींं लेंगे. वहीं 68 विजेताओं ने बैठक कर अवॉर्ड लेने से इंकार कर दिया है.

ऑस्कर विजेता साउंड ड‍िजाइनर रेसुल पूकुट्टी ने इस मामले में नाराजगी जताई है. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता पूकुट्टी ने ट्वीट कर कहा, अगर भारत सरकार हमारे सम्मान में अपना तीन घंटे का समय भी नहीं दे सकती तो उन्हें हमें राष्ट्रीय पुरस्कार देने की जहमत नहीं उठानी चाहिए. हमारे 50 फीसदी से ज्यादा पसीने की कमाई आप मनोरंजन कर के रूप में ले लेते हैं, हमारी जो प्रतिष्ठा है कम से कम उसका तो सम्मान कीजिए.

नाराज विजाताओं ने इवेंट के बहिष्कार की धमकी दी है. उनका कहना है कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ है. इस साल किया गया बदलाव उन्हें मंजूर नहीं है. एक फिल्ममेकर ने मीडिया से कहा, हमें बताया गया था कि हमेशा कि तरह इस बार भी राष्ट्रपत‍ि के हाथों सम्मान‍ मिलेगा. लेकिन रिहर्सल में पता चला कि इस बार ऐसा नहीं होगा. यह हमारे लिए अपमान जैसा है. हमने इसके खिलाफ आवाज उठाई है. लेकिन आख‍िरी फैसला एडमिनिस्ट्रेटर की ओर से आने वाले किसी फैसले के बाद लेंगे.

इस बारे में प्रेसिडेंट के प्रेस सेक्रेटरी अशोक मलिक ने कहा, जब सौ से ज्यादा विजेता हों तो ऐसे में राष्ट्रपत‍ि का सभी को पर्सनली अवॉर्ड दे पाना संभव नहीं है. रिपोर्ट्स के मुताब‍िक बाकी लोगों को ये अवॉर्ड केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, केंद्रीय राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और सूचना और प्रसारण सेक्रेटरी नरेंद्र कुमार सिंह द्वारा दिया जाएगा.

Read Also: जानिए अमिताभ बच्चन के नज़रिए से विनोद खन्ना के रोचक क़िस्से

राज्य सरकार की ओर से गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना जिले में भी छापेमारी गई. वहीं सिल्लीगुड़ी में भी मरे हुए जानवर का सड़ा मांस बरामद किया गया. हुगली जिले के सेरामपुर में भी सड़ा हुआ मांस बरामद किया गया. एक अधिकारी ने कहा, ”होटलों में छापेमारी कर फ्रिज में रखे मांस को जांच के लिए जब्त किया गया है. साथ ही एक्सपाइर हो चुके दूध के पैकेट को बरामद किया गया.” उन्होंने कहा कि रेस्टोरेंट और होटल मालिकों को कड़ी चेतावनी दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.