Now Reading:
कश्मीर घाटी में इस वर्ष 600 हिंसक वारदातों में 550 लोग मारे गये

कश्मीर घाटी में इस वर्ष 600 हिंसक वारदातों में 550 लोग मारे गये

violence-in-kashmir

violence-in-kashmir

जाने वाले साल 2018 के दौरान कश्मीर घाटी में हिंसा के लगभग 600 वारदातों में तकरीबन 550 लोग मारे गये. पिछले वर्ष यानि 2017 में 342 हिंसा की घटनाएं हुईं थीं. विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि 1 जनवरी 31 दिसम्बर तक घाटी में कुल 590 हिंसक वारदातें हुईं जिनमें 551 लोग मारे गये हैं. मारे गए लोगों में 278 मिलिटेंट, 143 आम नागरिक और 130 सुरक्षाकर्मी शामिल हैं. जानकारों का कहना है कि मरने वालों की यह संख्या पिछले 10 वर्षों में सबसे अधिक है. साल 2008 में 550 से अधिक लोग हिंसा का शिकार हुए थे.

सूत्रों का कहना है कि इस वर्ष मारे गए 278 मिलिटेंटों में से कई मोस्ट वांटेड की लिस्ट में शामिल थे. ऐसे मिलिटेंटों में सद्दाम पेडर, समीर टाइगर, मन्नान वानी, आजाद मालिक, मेराजुद्दीन बंगरु, नवेद जाट और सालेह आखून अहम हैं.

जानकर सूत्रों के मुताबिक इस वर्ष 128 कश्मीरी नौजवान मिलिटेंसी में शामिल हुए. यह संख्या पिछले 10 वर्षों में सबसे अधिक है. पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस समय घाटी में 300 मिलिटेंट सक्रिय हैं, जिनमें 250 स्थानीय और बाकी विदेशी हैं. सूत्रों का यह भी कहना है कि सबसे अधिक मिलिटेंट दक्षिण कश्मीर में सक्रिय हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.