Now Reading:
अपोलो अस्पताल के आर्थोपेडिक सर्जन को मिला चिकित्सा में इनोवेशन पुरस्कार

अपोलो अस्पताल के आर्थोपेडिक सर्जन को मिला चिकित्सा में इनोवेशन पुरस्कार

dignataries-during-function

dignataries-during-function

सुप्रसिद्ध आर्थोपेडिक एवं ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डा. राजू वैश्य को वर्ष 2018 के लिए प्रतिष्ठित “सिमेन्स—जीएपीआईओ इनोवेशनअवार्ड इन मेडिसीन” अवार्ड  से सम्मानित किया गया है.

मुंबई के होटल ताज महल में कल रात आयोजित ग्लोबल हेल्थ समिट के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद,  महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस और अपोलो हास्पीट्लस समूह के अध्यक्ष डा. प्रताप सी रेड्डी की उपस्थिति में डा. राजू वैश्य को यह सम्मान दिया गया.

कल रात आयोजित इस समारोह में विभिन्न् क्षेत्रों की अनेक हस्तियां भी मौजूद थीं. इस सम्मेलन का आयोजन ग्लोबल एसोसिएशन oऑफ़ फिजिशियन्स आफ इंडियन आरिजन (जीएपीआईओ) तथा अमेरिकन एसोसिएशन आफ फिजिशियंस आफ इंडियन ओरिजिन (एएपीआई) की ओर से किया गया.

पुरस्कार ग्रहण करते हुए डा. राजू वैश्य ने कहा, ‘‘मेरे लिए यह गौरव एवं खुशी का क्षण है कि मुझे यह प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया गया है. यह पुरस्कार अन्य लोगों को भी प्रेरित करेगा. मैं यह पुरस्कार अपने वरिष्ठ चिकित्सकों को समर्पित करता हूं, जिन्होंने मुझे प्रेरित किया. अपने उन सहयोगियों को समर्पितकरता हूं, जिन्होंने मुझे हर संभव सहयोग किया तथा उन मरीजों को समर्पित करता हूं, जिन्होंने मुझपर विश्वास किया.”

डा. राजू वैश्य देश के प्रमुख आर्थोपेडिक सर्जन हैं जो नई दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल में वरिष्ठ आर्थोपेडिक एवं ज्वांइट रिप्लेसमेंट सर्जन हैं. वह इंडियन कार्टिलेज सोसायटी और आर्थराइटिस केयर फाउंडेशन (एसीएफ) के अध्यक्ष हैं.

दुलर्भ किस्म की आर्थोपेडिक शल्य क्रियाओं को सफल अंजाम देने के लिए उनका नाम 2012, 2013, 2014 और 2016 में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज किया जा चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.