Now Reading:
मासूम से दुष्‍कर्म मामले में न्याय के लिए अदालत पहुंचे परिजन

मासूम से दुष्‍कर्म मामले में न्याय के लिए अदालत पहुंचे परिजन

rape

rape

ग्रेटर नोएडा के डीपीएस ग्रेनो में मासूम बच्ची से दुष्कर्म के मामले में परिजन लगातार प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते रहे हैं. इसके बावजूद पुलिस जांच में प्रबंधन के निर्दोष होने का दावा किया जा रहा है. इससे परिजन दुखी हैं और  उनका कहना है कि अगर पुलिस से उन्हें न्याय नहीं मिला तो वह मामले की अदालत से गुहार लगाएंगे. परिजनों ने इस मामले में हाईकोर्ट की अवमानना की शिकायत करने की भी बात कही.

परिजनों का कहना है कि पुलिस जांच में अगर प्रबंधन को बचाने का प्रयास करेगी, तो वह सबूत हाईकोर्ट में पेश करेंगे. उनके पास प्रबंधन के खिलाफ कॉल रिकॉर्डिंग, मैसेज जैसे सबूत हैं. जिससे प्रबंधन की लापरवाही और मामले को दबाने का किया गया प्रयास साबित होता है. परिजनों का कहना है कि मासूम बच्चों को मोटी फीस देकर अभिभावक इसलिए भेजते हैं कि वह वहां सुरक्षित वातावरण में शिक्षा ग्रहण करें. इसके बावजूद उनकी मासूम बच्ची की सुरक्षा में लापरवाही बरती गई.

स्वीमिंग पूल में पुरुष स्टाफ के साथ मासूम बच्ची को छोड़ा गया. ऐसे में प्रबंधन की घोर लापरवाही है. स्कूलों में बच्चियों की सुरक्षा आदि को लेकर आला अधिकारी पूर्व में भी कई आदेश निर्देश दे चुके हैं. इसके बावजूद उनकी बच्ची के साथ दुष्कर्म की वारदात हुई और स्कूल प्रबंधन पूरे मामले को दबाने का प्रयास करने में जुटा रहा. पुलिस ने भी जांच में प्रबंधन की लापरवाही और उन पर कार्रवाई का आश्वासन दिया था.

अब, अगर पुलिस की जांच में स्कूल प्रबंधन निर्दोष साबित हो रहे हैं तो वह ऐसे में अदालत से गुहार लगाएंगे. मामला हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है. हाईकोर्ट ने एक माह में जांच पूरी करने का निर्देश दिया था. अब दो माह बीत चुके हैं, जो हाईकोर्ट की अवमानना है. इसलिए वह हाईकोर्ट में ही पूरे मामले की शिकायत करेंगे.  साथ ही जांच में देरी को लेकर हाईकोर्ट के आदेश के अवमानना की भी शिकायत करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.