Chauthi Duniya

Now Reading:
अगर आप भी हैं मोमोज खाने के दीवाने, तो हो जाइए सतर्क

अगर आप भी हैं मोमोज खाने के दीवाने, तो हो जाइए सतर्क

momos

momos

स्ट्रीट फूड आजकल हर किसी की पसंद बनता जा रहा है. स्ट्रीट फूड के प्रति लोगों की चाहत इतनी बढ़ गई है कि वे घर के खाने की बजाय स्ट्रीट फूड को अपनी प्राथमिकता देते हैं. बच्चा हो या बड़ा स्ट्रीट फूड हर किसी को बेहद पसंद होता है. स्ट्रीट फूड में अगर बात करें सबसे पसंदीदा फूड की तो वो हैं- मोमोज. मोमोज के स्वाद पर सभी फिदा हैं. बाजार में मिलने वाले मोमोज में कई वैरायटी जैसे वेज, नॉन वेज, स्टीम्ड, तंदूरी और फ्राइड मोमोज भी मिल रहे हैं. लेकिन अगर आप भी मोमोज को बड़े चाव से खाते हैं तो वक्त रहते सतर्क हो जाएं, क्योंकि ये आपकी सेहत को बुरी तरह प्रभावित कर रहे हैं.

 मोमोज खाने के नुकसान

शालीमार बाग के फोर्टिस हॉस्पिटल की डाइटिशियन सिमरन सैनी के अनुसार, ‘स्ट्रीट फूड मोमोज खाने से लोगों को बचना चाहिए.सिमरन सैनी के अनुसार मोमज खाने से कई तरह की बीमारियां आपको अपना शिकार बना सकती हैं. मोमोज मैदा से बनते हैं जो पाचन तंत्र को भी खराब कर सकता है.

-मोमोज खाने का दूसरा बड़ा नुकसान ये होता है कि इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत आधिक होती है लेकिन पोषक तत्व बिल्कुल गायब होते हैं. जिसकी वजह से आपको खाने से सिर्फ टेस्ट मिलता है पोषक तत्व नहीं.

-मोमोज बनाते समय साफ-सफाई का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा जाता है. यही वजह है कि बाकी स्ट्रीट फूड की तुलना में मोमोज सबसे ज्यादा सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं. मोमोज खुद तो सेहत के लिए हानिकारक होते ही हैं लेकिन इसके साथ खाई जाने वाली लाल तीखी चटनी और मेयोनीज भी सेहत के लिए बेहद खतरनाक होते हैं.

-मोमोज बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मैदे को सॉफ्ट करने के लिए उसमें ब्लीचिंग मैदे का इस्तेमाल किया जाता है. जिसकी वजह से आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचने के साथ आपकी बॉडी का इंसुलिन लेवल भी खराब हो सकता है.मैदे में फाइबर नहीं होता, इसे सफेद तथा चमकदार बनाने के लिए बेंजोईल पेरोक्साइड से ब्लीच किया जाता है जो शरीर को बेहद नुकसान देता है.

-मैदा का सेवन करने से व्यक्ति को डाइजेशन की प्रॉब्लम हो सकती है. इतना ही नहीं मैदा खाने से कई बार महिलाओं और बच्चों को फूड पॉइजनिंग तक हो जाती है. मोमोज में मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है, जो हड्डियों को कमजोर बनाता है. इससे नर्वस डिसऑर्डर तक की समस्या भी हो जाती है.मैदे में मौजूद ग्लूटन फूड एलर्जी भी को पैदा करता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.