Now Reading:
सेंट्रल जेल में छापेमारी
raid in central jail

raid in central jail

गया सेंट्रल जेल में बुधवार की सुबह 10ः00 बजे के करीब जिला प्रषासन ने छापेमारी की। डीएम के निर्देष के आधे घंटे के अंदर सिटी एसपी नीरज सिंह व सदर एसडीओ सूरज कुमार सिन्हा के नेतृत्व में हुई छापेमारी से जेल में हड़कंप मच गया। सघन छापेमारी में जेल के अंदर सभी कैदी वार्डों में जांच की गई।
मोबाइल व चार्जर बरामद।

जेल के अंदर रसोईघर, अस्पताल के वार्डों की तलाषी ली गई। इसी दौरान कैदी वार्ड संख्या एक के बाहर जेल कैंपस में जमीन के अंदर छिपाकर रखी गई मोबाइल फोन(बैट्री सहित) व मोबाइल का चार्जर मिला। इसके अतिरिक्त जेल से गांजा पीने वाला चिलम, कैंची, 6 एमएम की डेढ़ फीट की छह छड़ बरामद की गई। वहीं जेल की दीवार में छिपाकर रखी गई कागज का टुकड़ा बरामद हुआ है, जिसपर कई मोबाइल नंबर अंकित थे। सभी सामानों को जब्त कर लिया गया।

रामपुर थाना में केस दर्ज

इस संबंध में रामपुर थाना में केस दर्ज किया गया है। वहीं कागज के टुकडे़ पर लिखा मिला मोबाइल नंबर की भी अच्छे से पड़ताल करने का निर्देष सिटी एसपी ने रामपुर थानाध्यक्ष चेतनानंद झा को दिया। कार्रवाई में सिटी डीएसपी, डीएसपी (विधि व्यवस्था), बोधगया व षेरघाटी अंचल के सीओ व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। इस दौरान पूरे जेल में सघन जांच की गई। पुलिस जवानों व अफसरों ने जेल का चप्पा-चप्पा खंगाल डाला। इस दौरान कैदियों में हड़कंप मचा रहा।

कैदी जलाते हैं अपना-अपना चूल्हा

छापेमारी के दौरान जेल में काफी संख्या में चूल्हा जल रहा था, जिसपर कैदी खाना बना रहे थे। इसपर सदर एसडीओ सूरज कुमार सिन्हा ने जानकारी ली। बताया गया कि विचाराधीन कैदी अपनी सुविधानुसार खाना बनाते हैं। खाद्य सामग्री कारा के अंदर से व कुछ मुलाकाती से जांच के बाद प्राप्त हो जाता है।

कैदी ने कहा- रिहा नहीं किया जा रहा

छापेमारी के दौरान पदाधिकारियों से किसी कैदी ने षिकायत नहीं की। लेकिन वृद्ध कैदी ने मौजूद पदाधिकारियों से फरियाद की। बताया कि साहब 20 साल की सजा काटने के बाद भी जेल में हैं। सजा मुक्ति होने के बाद भी उन्हें जेल से रिहा नहीं किया जा रहा है। कैदी की बात सुनकर सहायक जेलर से संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.