Now Reading:
ICICI की पुर्व सीईओ चंदा कोचर के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज किया केस मुंबई में चार जगहों पर मारे जा रहे हैं छापे
Full Article 2 minutes read

ICICI की पुर्व सीईओ चंदा कोचर के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज किया केस मुंबई में चार जगहों पर मारे जा रहे हैं छापे

chanda kochar

मुंबई: ICICI की पूर्व-सीईओ की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही है. CBI ने ICICI की पूर्व-सीईओ चंदा कोचर केस दर्ज कर उनके खिलाफ क्घापेमारी शुरू कर कर दी है. सीबीआई एक साथ मुंबई और महाराष्ट्र के चार अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. इसके अलावा मुंबई में विडियोकॉन के नरीमन पॉइंट स्थित मुख्यालय पर भी छापेमारी की जा रही है.

चंदा कोचर पर आरोप हैं कि, पद पर रहते हुए उन्होंने अपने पति दीपक कोचर समेत उनके परिवार के सदस्यों को कर्ज पाने वालों की तरफ से वित्तीय फायदे पहुंचाए हैं. उन पर आरोप है कि आईसीआईसीआई बैंक से लोन मिलने के 6 महीने बाद धूत ने कंपनी का स्वामित्व दीपक कोचर के एक ट्रस्ट को 9 लाख रुपये में ट्रांसफर कर दिया.

आरोप सामने आने के बाद चंदा कोचर ने 4 अक्टूबर, 2019 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बैंक के बोर्ड ने समय से पूर्व पद छोड़ने की उनकी मांग को स्वीकार करने के बाद उनकी जगह बैंक ने संदीप बख्शी को अगला मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जिक्युटिव ऑफिसर नियुक्त किया था.

चंदा कोचर पर क्या है आरोप ?

ICICI की पूर्व-सीईओ पर आरोप है की उन्होंने विडियोकॉन ग्रुप को साल 2012 में आईसीआईसीआई बैंक से 3,250 करोड़ रुपये के लोन का दिया था. ग्रुप को दिया गया यह लोन कुल 40 हजार करोड़ रुपये का एक हिस्सा था जिसे विडियोकॉन ग्रुप ने एसबीआई के नेतृत्व में 20 बैंकों से लिया था. विडियोकॉन ग्रुप के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत पर आरोप है कि उन्होंने 2010 में 64 करोड़ रुपये न्यूपावर रीन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड (NRPL) को दिए थे, इस कंपनी को धूत ने दीपक कोचर और दो अन्य रिश्तेदारों के साथ मिलकर खड़ा किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.