Now Reading:
इंजीनियर-MBA ने करने के बाद सफाईकर्मी बनने को तैयार , 14 पदों के लिए करीब 4000 आवेदन
Full Article 3 minutes read

इंजीनियर-MBA ने करने के बाद सफाईकर्मी बनने को तैयार , 14 पदों के लिए करीब 4000 आवेदन

पिछले कुछ सालो में देश में नौकरियों की अकाल सी पड़ गयी हैं . लोगों के पास आज डिग्रियां तो हैं लेकिन उन डिग्रियों के लायक नौकरियां नहीं है. लोगों को अपनी योग्यता के अनुसार नौकरी नहीं मिल रही है, लेकिन सवाल पेट का है. ऐसे वह उन नौकरियों के लिए भी आवेदन करने के लिए मजबूर हैं जो उनकी योग्यता के अनुसार नहीं है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार चेन्नई में राज्य विधानसभा सचिवालय में 14 पदों पर भर्ती निकाली गई हैं. ये भर्ती सेनेटरी कर्मचारी (4 पद) और स्वीपर (10 पद) के लिए निकाली गई थी. वहीं इन पदों पर लगभग 4,000 लोगों ने आवेदन किया.

जिसमें सबसे ज्यादा चौकानें वाली ये बात सामने आई कि आवेदन करने वाले उम्मीदवारों में से एक बड़ी संख्या इंजीनियरिंग और एमबीए के उम्मीदवारों की है. जिनके पास डिग्रियां हैं. यही नहीं इनके अलावा कॉमर्स, आर्ट्स और साइंस स्ट्रीम के उम्मीदवार भी शामिल हैं.

बता दें, इंटरव्यू के लिए 3930 एडमिट कार्ड उम्मीदवारों को भेज दिए गए हैं. 14 पदों में से 10 स्वीपरों के लिए और 4 विधानसभा सचिवालय में सैनिटरी कर्मचारियों के लिए पदों पर नियुक्ति की जाएगी. दोनों के लिए वेतन 15,700 रुपये से 50,000 रुपये तय किया गया है.

आवेदन करने वाले उम्मीदवार पूरे प्रदेश और सभी समुदायों से हैं. भर्ती रोस्टर के अनुसार, 4 सामान्य श्रेणी के लिए, ओबीसी 4 (मुस्लिमों को छोड़कर) के लिए, 3 सबसे पिछड़े वर्ग और डी-अधिसूचित जनजातियों के लिए, 2 अनुसूचित जाति के लिए और 1 अनुसूचित जनजातियों के लिए तय किया गया है. जिसमें किसी भी शैक्षणिक योग्यता का उल्लेख नहीं किया गया है. केवल शारीरिक दक्षता (फिजिकल फिटनेस) अनिवार्य कर दी गई है.

वहीं आवेदन करने वालों में से कई ऐसे उम्मीदवार हैं जिनके पास कोई अच्छी योग्यता नहीं है. उनके साथ प्रतिस्पर्धा उन लोगों के साथ है जिन्होंने अन्य विषयों में ग्रेजुएशन के अलावा M.Tech, BE, M.Com और MBA किया है. वहीं जिन उम्मीदवारों ने रोजगार एक्सचेंज के साथ आवेदन किया है उन्हें भी लिस्ट में शामिल किया गया है.

बता दें, इससे पहले महाराष्ट्र के मंत्रालय (राज्य सचिवालय) ने वेटर के 13 पदों पर भर्ती निकाली गई थी. ये भर्ती चौथी पास उम्मीदवारों के लिए निकाली गए थी. जिसमें 7000 हजार से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किया था. वहीं आवेदन करने वाले ज्यादातर उम्मीदवार चौथी पास नहीं बल्कि ग्रेजुएट उम्मीदवार शामिल थे.

हालांकि 14 पदों के लिए विज्ञापन अगस्त 2018 में जारी किया गया था. बता दें, पढ़े- लिखे आवेदकों के बारे में उस समय ध्यान दिया गया. जब उनके लिए लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए थे. तमिलनाडु सरकार की वेबसाइट पर एडमिट कार्ड अपलोड किए थे. विश्लेषकों के अनुसार, यह न केवल तमिलनाडु में नौकरी के संकट का संकेत है, बल्कि शिक्षितों के लिए रोजगार के अवसरों की कमी भी दर्शा रहा है.

 

(Source)

Input your search keywords and press Enter.