Now Reading:
चेन्नई: एक कब्र से निकला 433 करोड़ का खजाना, इनकम टैक्सऔर प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारीयों के हाथ पैर फूले
Full Article 2 minutes read

चेन्नई: एक कब्र से निकला 433 करोड़ का खजाना, इनकम टैक्सऔर प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारीयों के हाथ पैर फूले

चेन्नई: तमिलनाडु में एक कब्र से करोड़ों रुपये का खजाना मिलने का मामला सामने आया है. इतिहास में  इनकम टैक्स अधिकारीयों के किसी कब्र पर छापा मारने की शायद यह पहली घटना होगी. इस  कब्रिस्तान में मारे गए छापे जो सामने आया उसे देखकर अधिकारीयों के होश उड़ गए.

जानकारी के मुताबिक जनवरी के आखिरी हफ्ते में तमिलनाडु के मश्हूर सर्वणा स्टोर, लोटस ग्रुप व जी स्कॉवयर के करीब 72 कार्यालयों पर आयकर विभाग ने छापा मारा था. यह छापा चेन्नई व कोयंबटूर में मारा गया था. पैसे, हीरे व जेवरात छुपाने के लिए इन तीनों कंपनियों के मालिकों ने काफी कुछ सामान एक कब्रिस्तान में छिपा दिया था.

28 जनवरी को मारे गए छापे में विभाग को ज्यादा कुछ नहीं मिला था. ऐसा इसलिए क्योंकि कंपनियों को छापा पड़ने की खबर कुछ पुलिस वालों से पहले ही लग गई थी. छापा पड़ने की सूचना मिलने के बाद तीनों कंपनियों के कर्मचारियों ने ज्यादातर पैसों, सोना व हीरों को एक एसयूवी में छुपाकर चेन्नई की सड़कों पर दौड़ाना शुरू कर दिया. इस गाड़ी में जो सामान था उसकी कुल कीमत 433 करोड़ रुपये के करीब थी.

इनकम टैक्स अधिकारीयों को छापा मारने के बाद यह सूचना मिली कि एक गाड़ी चेन्नई की सड़कों पर लगातार चक्कर मार रही है और इसमें काफी काला धन व जेवरात हैं. इस गाड़ी को जब पुलिस की मदद से ढूंढ निकाला गया तो इसमें कुछ नहीं मिला. हालांकि सख्त पूछताछ के बाद एक कब्रिस्तान में कई सारे बोरे छुपाने की बात ड्राइवर ने बता दी.

इसके बाद आयकर अधिकारियों ने ड्राइवर की निशानदेही पर उक्त कब्रिस्तान में खुदाई शुरू कराई. खुदाई में आयकर अधिकारियों को करीब 25 करोड़ रुपये नगद, 12 किलो सोना और 626 कैरेट की हीरे बरामद किए.

28 जनवरी को शुरू हुआ ऑपरेशन 9 दिन बाद खत्म हुआ. इस ऑपरेशन के खत्म होने के बाद इनकम टैक्स अधिकारी फिलहाल कंप्यूटर से डिलीट किए गए डाटा को वापस लेने के लिए आईटी प्रोफेशनल की मदद ले रहे हैं. इन तीनों कंपनियों के मालिकों ने हाल ही में कैश के जरिए चेन्नई में 180 करोड़ की प्रॉपर्टी  खरीदी थी.

 

Input your search keywords and press Enter.