fbpx
Now Reading:
महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में ईद-उल-अजहा पर दो समूहों के बीच झड़प
Full Article 2 minutes read

महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में ईद-उल-अजहा पर दो समूहों के बीच झड़प

महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में सोमवार ईद के मौके कावड़ यात्रियों और नमाजियों के बीच कहासुनी ने हिंसक रूप ले लिया जिसके बाद को शिवसेना के समर्थकों और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच हिंसक झड़प हो गई। हिंगोली पुलिस के एक अधिकारी ने ये जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अब स्थिति नियंत्रण में है।

ये टूटी हुई वाहनें इस बात की गवाही दे रहे हैं कि सोमवार की सुबह यहां की फ़िज़ा में जहर घुल गया था। वो जहर जो समाज को बांटने और हिंसा फैलाने का काम करता है। वो हिंसा जिसके बाद में पसर जाता है सन्नाटा और मातम जो जख्म दे जाता है तबाही का, छीन लेता है अपनों को।

यहां के लोग पुलिस पर भी आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस ने दंगाइयों के साथ मिलकर इनके वाहनों को तोड़ा है। जो वीडियो में आप भी देख सकते हैं पुलिस का ये रवैया आपको भी हैरान जरूर करेगा। स्थानीय लोगों के अनुसार इस हिंसक झड़प में कई लोग जख्मी हुए हैं लेकिन औपचारिक तौर पर ये जानकारी नहीं मिली कि इस हिंसा में कितने लोग जख्मी हुए हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना सुबह साढ़े नौ बजे औंधा ईदगाह और नांदेड़ नाका इलाकों के बीच हुई, जहां शिवसेना के कावड़ यात्रा के सदस्य और ईद-उल-अजहा की नमाज अदा करने के लिए एकत्र हुए मुस्लिम समुदाय के लोगों का आमना-सामना हो गया। उन्होंने बताया कि दोनों पक्षों के बीच तीखी बहस के बाद झड़प हो गई, जिस दौरान पथराव भी हुआ।

हिंसा की सही-सही वजह का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। मराठवाड़ा के औरंगाबाद संभाग में पड़ने वाले इलाके में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। बहरहाल, पुलिस ने अब तक ना ही कोई मामला दर्ज किया है ना ही कोई गिरफ्तारी की है।

Input your search keywords and press Enter.