fbpx
Now Reading:
फर्जी वीडियो शेयर करने पर पुलिस ने जिग्नेश मेवाणी पर कसा शिंकजा, मामला दर्ज
Full Article 2 minutes read

फर्जी वीडियो शेयर करने पर पुलिस ने जिग्नेश मेवाणी पर कसा शिंकजा, मामला दर्ज

अहमदाबाद: सोशल मीडिया पर कथित रूप से एक फर्जी वीडिया साझा करने और एक निजी स्कूल को बदनाम करने के सिलसिले में गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

मेवाणी वडगाम क्षेत्र के विधायक हैं। उन्होंने 20 मई को अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो साझा किया था। इस वीडियो में आधे नंगे एक स्कूली छात्र को कोई पीट रहा था। जिसके बारे में मेवाणी का दावा था कि वह वलसाड के आरएमवीएम स्कूल के शिक्षक हैं।

पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि इस स्कूल की प्रधानाचार्य विजल कुमारी पटेल नेगुरुवार को वलसाड पुलिस थाने में विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कराया। उनका दावा है कि विधायक ने जो वीडियो शेयर किया, वह उनके स्कूल से जुड़ा हुआ नहीं है और विधायक ने ऐसा करके इस स्कूल और यहां काम कर रहे शिक्षकों की बदनामी की।

शिकायत के आधार पर मेवाणी पर भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। मेवाणी ने 20 मई को यह पोस्ट की थी। बाद में मेवाणी ने यह पोस्ट हटा ली। मेवाणी ने वीडियो का लिंक साझा करते हुए दावा किया था कि छात्र को पीट रहे शिक्षक आरएमवीएम स्कूल के हैं। मेवाणी ने इस ट्वीट में पीएमओ को भी टैग किया था।

मेवानी के खिलाफ इन धाराओं में केस दर्ज
आरएमवीएम स्कूल की प्रधानाचार्य विजल कुमारी पटेल की शिकायत के आधार पर मेवानी के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 (2) और 500 के तहचत केस दर्ज किया गया है। ये धाराएं अफवाह फैलाने और मानहानि की हैं। मेवानी ने बाद में 20 मई को किए अपने ट्वीट को हटा लिया था। उन्होंने हिंदी में पोस्ट किए गए अपने ट्वीट में पीएमओ को भी टैग किया था। उनके ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूर्जस ने उन्हें बताया था कि ये गुजरात नहीं मिस्र का है।

Input your search keywords and press Enter.