fbpx
Now Reading:
DUSU चुनाव में ABVP की बड़ी जीत, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष समेत 3 पदों कब्जा
Full Article 2 minutes read

DUSU चुनाव में ABVP की बड़ी जीत, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष समेत 3 पदों कब्जा

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (DUSU) चुनाव में एबीवीपी ने तीन पदों पर जीत दर्ज कर ली है. एबीवीपी ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर जीत दर्ज की है. आज यानी शुक्रवार को मतगणना हुई है. चुनाव समिति के मुताबिक डूसू चुनाव में 39.90 प्रतिशत वोटिंग हुई थी.

अभी तक प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर ABVP आगे चल रही है. वहीं सेक्रेटरी पद पर एनएसयूआई आगे है. चौथे राउंड की गिनती खत्म होने पर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सचिव पद पर एबीवीपी आगे है. संयुक्त सचिव पद पर एनएसयूआई और एबीवीपी के बीच कांटे की टक्कर है.

डिस्प्ले में खराबी के चलते कुछ देर के लिए मतगणना रोक दी गई थी. हालांकि कुछ ही देर के बाद वोटों की गुनती दोबारा शुरू हो गई है.देर से शुरू हुई वोटों की गिनती, लेकिन कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना की गई है. डीयू के मॉर्निंग कॉलेजों में सुबह 8:30 से दोपहर 1 बजे तक, जबकि इवनिंग कॉलेजों में 3 बजे दोपहर से शाम को 7:30 बजे तक वोट डाले गए.
वोटिंग के दौरान एक्का-दुक्का घटनाओं को छोड़कर हंगामे की कोशिश की खबर नहीं मिली. मतदान के लिए 52 केंद्र बनाए गए थे. इन चुनावों में विवाद भी हुआ. नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने दावा किया कि संयुक्त सचिव पद के उसके उम्मीदवार अभिषेक चपराना को दक्षिण दिल्ली के दयाल सिंह कॉलेज में मतदान केंद्रों पर नहीं जाने दिया. संगठन ने दावा किया कि चापर्णा को गैरकानूनी ढंग से हिरासत में लिया गया है.

हालांकि पुलिस ने कहा कि वह उम्मीदवार कॉलेज के बाहर प्रचार कर रहा था जिसकी इजाजत नहीं है. पुलिस ने कहा कि जब उसे प्रचार करने से रोका गया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ खराब बर्ताव किया इसलिए उसे हिरासत में लेना पड़ा.

मतदान के लिए छात्रों के पास कॉलेज आईडी कार्ड या फिर एडमिशन की स्लिप होना जरूरी था. इसके अलावा ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, पैन कार्ड और वोटर आईडी कार्ड भी जरूरी थे. मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी समर्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और कांग्रेस के छात्र संगठन भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयूआई) के बीच है.

Input your search keywords and press Enter.