fbpx
Now Reading:
दिवाली के बाद दिल्ली का फूला फेफड़ा, पटाखों के धुंए ने घोंटा दम, PM लेवल 360 के खतरनाक स्तर पर
Full Article 3 minutes read

दिवाली के बाद दिल्ली का फूला फेफड़ा, पटाखों के धुंए ने घोंटा दम, PM लेवल 360 के खतरनाक स्तर पर

हर बार की तरह इस बार भी दिल्ली में दिवाली के बाद हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया. कुछ जगहों पर प्रदूषण का स्तर सामान्य तो कहीं बेहद ज्यादा रहा. दिवाली पर दिल्ली-एनसीआर में जलाए गए पटाखों का असर साफ तौर पर देर रात को नजर आया. दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पीएम 10 और पीएम 2.5 लेवल 950 तक पहुंच गया.

दिल्ली में ग्रीन दिवाली के आह्वान के बीच दिवाली के अगले दिन हवा में प्रदूषण के स्तर में कोई कमी नहीं आई. हर बार की तरह इस बार भी दिवाली के बाद हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया. कुछ जगहों पर प्रदूषण का स्तर सामान्य तो कहीं बेहद ज्यादा रहा. दिवाली पर दिल्ली-एनसीआर में जलाए गए पटाखों का असर साफ तौर पर देर रात को नजर आया. दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पीएम10 और पीएम 2.5 लेवल 950 तक पहुंच गया.

दिवाली के अगले दिन सुबह होते ही यह आंकड़ा एक बार फिर पहले के स्तर पर आ गए. देर रात के वक्त आईटीओ इलाके में पीएम 10 और पीएम 2.5 का स्तर 900 तक पहुंचा, वहीं सुबह के वक्त यह आंकड़ा 255 स्तर पर भी पहुंचा. 255 भी प्रदूषण के लिहाज से खतरनाक स्थिति है.

आज सुबह 7 बजे का स्तर

आनंद विहार 358 बेहद खराब

आईटीओ 347 बेहद खराब

जहांगीरपुरी 360 बेहद खराब

द्वारका 350 बेहद खराब

नॉर्थ कैंपस 328 बेहद खराब

लोदी रोड 348 बेहद खराब

दिवाली की रात 11 बजे लोदी रोड पर हवा स्तर
जबकि लोदी रोड इलाके में रात के वक्त प्रदूषण का स्तर 250 से 280 स्तर पर था. सुबह होते ही यह स्तर 500 तक पहुंच गया. दिल्ली में पिछली रात ओवरऑल वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 306 था जो बेहद खराब कैटेगरी में आता है.

दिल्ली की तुलना में मुंबई में दिवाली के बाद अगले दिन हवा का स्तर अच्छा रहा. मुंबई में हाजी अली क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर 50 से कम है जिसका अर्थ है कि वहां हवा का स्तर ‘अच्छा’ है.

इससे पहले दिवाली से एक दिन पहले ही भी राजधानी दिल्ली और एनसीआर में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब स्तर पर पहुंच गई थी. दिल्ली की कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) शनिवार सुबह करीब 10 बजे आठ बजे तक 305 दर्ज किया गया.

Input your search keywords and press Enter.