fbpx
Now Reading:
अखिल भारत हिंदू महासभा ने मनाया नाथूराम गोडसे का जन्मदिन, वीडियो हुआ वायरल

अखिल भारत हिंदू महासभा ने मनाया नाथूराम गोडसे का जन्मदिन, वीडियो हुआ वायरल

जहां एक तरफ नाथूराम गोडसे को लेकर देश की सियासत गरमाई हुई है तो वहीं दूसरी तरफ अलीगढ़ में अखिल भारत हिन्दू महासभा ने आज गोडसे का जन्मदिन धूम धाम से मनाया. इस मौके पर हिंदू महासभा के कार्यालय में हवन भी किया गया. मामला थाना गांधी पार्क के बिदास कंपाउंड का है. जहां इस दौरान मात्रा में पुलिस बल तैनात रहा.

वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है जब अखिल भारत हिन्दू महासभा ने इस तरह का कोई आयोजन किया है. इसके पहले भी भारत हिन्दू महासभा इस तरह के आयोजन कर चुका है. बीते 30 जनवरी को भारत हिन्दू महासभा द्वारा आयोजित किये गए एक कार्यक्रम में महात्मा गांधी के प्रतीकात्मक पुतले में गोली मारी गई थी. जिसकी कड़ी आलोचना हुई थी.

Related Post:  पत्नी प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी से नाराज़ हुए रॉबर्ट वाड्रा कहा -यह सरासर लोकतंत्र की हत्या जैसा है

आपको बता दें कि हाल ही में मशहूर अभिनेता और मक्कल नीधि मैयम पार्टी (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन के महात्मा गांधी के हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को ‘आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकवादी’ कहने पर बवाल खड़ा हो गया था. तो वहीं उनके इस बयां पर पटलवार करते हुए भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाथूराम गोडसे को राष्ट्रभक्त करार दिया था. दरअसल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का कहना था कि ‘नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और देशभक्‍त रहेंगे.’ साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि’ नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबां में झांक कर देखें. ऐसे लोगों को इस चुनाव में जवाब दे दिया जाएगा.’ हालांकि बाद में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को इस बयान ने लिए माफ़ी मांगनी पड़ी थी.

Related Post:  सिपाही का आरोप: BJP सांसद रेखा वर्मा उन्हें उनकी हत्या कराने की दे रही हाई धमकी, सांसद ने मुझे मारा थप्पड़

लेकिन मामला यहीं शांत नहीं हुआ. जहां बीजेपी ने इस मामले में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को जमकर फटकार लगाई तो वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोडसे को देशभक्त कहने पर साध्वी प्रज्ञा की कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि भले पार्टी माफ कर दे, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा. पीएम मोदी ने कहा कि महात्मा गांधी के बारे में या गोडसे पर जो भी बातें की गई. इस प्रकार जो भी बयान दिए गये हैं, ये बहुत ही खराब हैं, खास प्रकार से घृणा के लायक हैं, आलोचना के लायक हैं. पीएम मोदी ने कहा था था कि सभ्य समाज के अंदर इस प्रकार की भाषा और सोच नहीं चल सकती. इसलिए ऐसा करने वालों को सौ बार आगे सोचना पड़ेगा.

Related Post:  उप्र: बेहोश महिला को अंदर छोड़ स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारी ताला लगाकर चलते बने
Input your search keywords and press Enter.