fbpx
Now Reading:
Apple के लिए भारत काफी अहम, देश में जल्द खोले जाएंगे ब्रांडेड स्टोर्स- टिम कुक

Apple के लिए भारत काफी अहम, देश में जल्द खोले जाएंगे ब्रांडेड स्टोर्स- टिम कुक

नई दिल्ली: दुनिया की प्रमुख टेक्नॉलजी कंपनियों में शुमार एपल के सीईओ टिम कुक ने एक बार फिर कहा है कि उनके लिए भारतीय बाजार काफी अहम है. कुक को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में भारत में उनका उत्पादक कार्य शुरू होने और नए स्टोर खुलने के बाद कंपनी को काफी फायदा होगा. उन्होंने कहा कि देश में कंपनी के ब्रांडेड रिटेल स्टोर खुलने के साथ आने वाले दिनों में आईफोन के मौजूदा मैन्यूफैक्चरिंग में अधिकतम वृद्धि होगी. कुक ने कहा कि कंपनी ने भारत में कुछ सुधार किया है और शुरू में उसके बेहतर नतीजे आए हैं.

Related Post:  IOS प्रेमियों के लिए बड़ी खबर- 2020 में आईफोन 4 लांच करेगी एपल, होंने 5जी तकनीक से लैस

उन्होंने कहा, “लंबी अवधि में भारत काफी महत्वपूर्ण बाजार है. छोटे समय में यह चुनौतीपूर्ण बाजार है, लेकिन हम बहुत कुछ सीख रहे हैं.” एपल के सीईओ ने कहा, “हमने वहां (भारत) निर्माण कार्य शुरू कर दिया है, जो सही ढंग से बाजार की खपत की पूर्ति करने के लिए काफी जरूरी है.” एपल ने भारत में निर्माण की अपनी योजना को बढ़ावा देते हुए बेंगलुरू स्थित अपने सप्लायर विस्ट्रन के केंद्र में आईफोन-7 की असेंबलिंग शुरू कर दी है. कुक ने भारत में कंपनी के ब्रांडेड स्टोर खोलने पर भी जोर दिया.

Related Post:  IOS प्रेमियों के लिए बड़ी खबर- 2020 में आईफोन 4 लांच करेगी एपल, होंने 5जी तकनीक से लैस

उन्होंने कहा, “हम वहां रिटेल स्टोर खोलेंगे और हम इसकी मंजूरी के लिए सरकार से बातचीत कर रहे हैं. इसलिए हमने अपनी पूरी ताकत के साथ वहां जाने की योजना बनाई है.” एपल धीरे-धीरे भारतीय बाजार में अपनी गहरी पैठ बनाने की योजना बना रही है. जाहिर है कि भारत में 45 करोड़ लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं, जिनमें ज्यादातर एंड्रॉयड हैं और वह भी चीन से आते हैं.

भारत में जब स्मार्टफोन खरीदने की बात आती है तो कीमत सबसे अहम कारक रहती है. काउंटरपॉइंट रिसर्च के एसोसिएट डायरेक्टर तरुण पाठक के अनुसार, एपल के लिए एक नई शुरुआत है जब कंपनी असंबेलिंग का काम स्थानीय स्तर पर शुरू करने जा रही है.

Related Post:  IOS प्रेमियों के लिए बड़ी खबर- 2020 में आईफोन 4 लांच करेगी एपल, होंने 5जी तकनीक से लैस

पाठक ने कहा, “इसे 400 डॉलर से अधिक के कीमत वर्ग में हो रहे विस्तार का लक्ष्य बनाने की आवश्यकता है.” पिछला एक साल भारत में एपल के लिए कठिन दौर रहा, जब उसकी बाजार हिस्सेदारी 2019 की पहली तिमाही में घटकर एक फीसदी से कम हो गई.

Input your search keywords and press Enter.