fbpx
Now Reading:
असम में गोमांस बेचने के आरोप में मुस्लिम बुजुर्ग पिटाई, जबरन खिलाया सूअर का मांस, देखें वीडियो
Full Article 2 minutes read

असम में गोमांस बेचने के आरोप में मुस्लिम बुजुर्ग पिटाई, जबरन खिलाया सूअर का मांस, देखें वीडियो

असम से भीड़ की हिंसा और समाज में फैलते नफरत का एक वीडियो सामने आया है। जिसे देखकर आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि बीते दिनों में समाज में नफ़रत किस कदर हावी हो गया है। असम में 68 साल के शौकत अली को भीड़ ने अपना शिकार बना लिया। भीड़ को शक था कि शौकत अली गोमांस बेचने का काम करते हैं। भीड़ ने शक के बिना पर शौकत की पिटाई की और जब इतने से भी भीड़ का गुसा शांत नहीं हुआ तब भीड़ ने शौकत को पोर्क यानी सुअर का मांस खाने के लिए मजबूर किया।
यह घटना 7 अप्रैल को असम के बिस्वनाथ चाराली में हुई। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें शौकत अली को भीड़ से घिरे हुए घुटने के बल बैठे हुए देखा जा सकता है। भीड़ उससे पूछती है कि वह गोमांस क्यों बेच रहा है और क्या उसके पास ऐसा करने का लाइसेंस है?
गुस्साई भीड़ शौकत अली से पूछा कि क्या वह बांग्लादेशी है या उसके पास राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) प्रमाण पत्र है। स्थानीय पुलिस के अनुसार, अली एक व्यापारी है और पिछले 35 सालों से क्षेत्र में भोजनालय चला रहा है। भीड़ ने उस पर साप्ताहिक बाजार में गोमांस बेचने का आरोप लगाया। पुलिस ने कहा, ‘वे मामले की जांच कर रहे हैं।’

घटना पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘मैं ऐसे कई लोगों को जानता हूं जो महसूस करते हैं कि पिछले पांच वर्षों में लिंचिंग की संख्या के कारण वे निराश हैं। मैं नहीं हूं, प्रत्येक वीडियो मुझे प्रभावित करता है और मुझे दुखी करता है। यह अप्रासंगिक है कि असम में गोमांस वैध है, भारत के हर हिस्से में एक निर्दोष बूढ़े व्यक्ति को पीटना अवैध है।
Input your search keywords and press Enter.