fbpx
Now Reading:
वीडियो: नुमाइशी शेर हैं बिहार पुलिस के ख़ाकीधारी – पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में सलामी के दौरान फुस्स हुईं बंदूकें
Full Article 2 minutes read

वीडियो: नुमाइशी शेर हैं बिहार पुलिस के ख़ाकीधारी – पूर्व सीएम के अंतिम संस्कार में सलामी के दौरान फुस्स हुईं बंदूकें

Bihar police

बिहार  में कानून व्यवस्था की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। हालत इतने ख़राब हो गए हैं कि अब तो अपराधी पुलिसवालों को ही निशाना बना रहे हैं। दो दिन पहले ही दो पुलिसवालों कि सरेआम हत्या तक कर दी गई थी। डीजीपी ने तो अब अपनी हत्या तक कीआशंका जता दी है। कह चुके हैं कि उनकी पुलिस अपराधियों से नहीं लड़ सकती, क्योंकि  उनके पास हथियारों की ज़बरदस्त कमी है।

डीजीपी की ये बात तब और साबित हो गई जब बिहार पुलिस को सरेआम शर्मसार होना पड़ा। वो भी तब जब खुद मुख्यमंत्री नितीश कुमार वहां खुद मौजूद थे। हुआ ये की पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्र की अंत्येष्टि में बिहार पुलिस सलामी देने पहुंची थी। मगर इस दौरान पुलिसवालों के एक भी राइफल से गोली नहीं चल पाई। डॉ जगन्नाथ मिश्र का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होना था। इसकी घोषणा भी खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की थी, लेकिन अंत्येष्टि के दौरान पुलिस की एक भी राइफल काम न करने से हास्यास्पद स्थिति पैदा हो गई।

Related Post:  राज्यसभा में गूंजा बिहार में चमकी बुखार से बच्चों की मौत का मुद्दा, सांसदों ने दी श्रद्धांजलि

बुधवार को सुपौल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ। जगन्नाथ मिश्र की अंत्येष्टि के दौरान खुद उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डे और विधान सभा अध्यक्ष विजय चौधरी मौजूद थे। लेकिन इसके बावजूद ज़िला पुलिस की तैयारी का आलम ये था कि एक भी बंदूक़ से फ़ायरिंग नहीं हो पाई। अमूमन दस राइफ़ल से फ़ायर किया जाता है, लेकिन एक ने भी काम नहीं किया।

हालांकि इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जिला पुलिस ने अब जांच के आदेश दिये हैं। ज़िले के पुलिस अधीक्षक एम के चौधरी का कहना है कि हो सकता है कि मौसम के कारण ये हथियार काम नहीं किये हों, लेकिन पूरे मामले की जांच जारी है। जांच रिपोर्ट का इंतज़ार करिये, उसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

Related Post:  बिहार के पांडेय सुनील पांडेय - संतोष पांडेय के ब्रदर्स के घर NIA छापेमारी खत्म, हथियार ज़प्त
Input your search keywords and press Enter.