fbpx
Now Reading:
बिहार में गहराया कांग्रेस का संकट, प्रियंका करेंगी बेड़ा पार

बिहार में गहराया कांग्रेस का संकट, प्रियंका करेंगी बेड़ा पार

लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस का संकट गहराता जा रहा है. रही सही कसर बिहार कांग्रेस ने पूरी कर दी है. पार्टी में जारी शीत युद्ध अब सामने आ गया है. बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज ने राज्य में कांग्रेस की बुरी हालत के लिए कांग्रेस के 4 नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है. तो वहीं दूसरी तरफ कौकब कादिरी सहित कुछ कांग्रेसी नेताओं ने पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को बोइहर बुलाने की मांग की है.

प्रदेश कार्यकारी अध्‍यक्ष श्‍याम सुंदर सिंह धीरज ने लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार का ठीकरा बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल,अभियान समिति के अध्यक्ष अखिलेश सिंह, कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह और प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा पर फोड़ा है. उनका आरोप है कि इन नेताओं ने चुनाव में गठबंधन और उम्मीदवारी के बारे में पार्टी आलाकमान को अंधेरे में रखा. इसके साथ ही उनका कहना है कि अगर इन नेताओं को पार्टी से अलग कर दिया जाए तो पार्टी का भला हो जाएगा.

श्‍याम सुंदर सिंह धीरज ने बताया कि रविवार को हुई समीक्षा बैठक में ये नेता दावा कर रहे थे कि लोकसभा चुनाव से जुड़ा हर फैसला आलाकमान की सहमति से लिया गया. उन्होंने सवाल किया- क्या अखिलेश सिंह के पुत्र को दूसरे दल से टिकट भी क्या आलाकमान की सहमति से मिली थी? आलाकमान से पूछ कर आपराधिक पृष्ठभूमि के विधायक की पत्नी को उम्मीदवार बनाया गया? क्या टिकट की बिक्री में भी आलाकमान की राय ली गई थी?उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं में ताकत है. बिना साधन के भी पार्टी मजबूत हो सकती है. धीरज ने कहा कि कुछ लोग राजनीति में व्यापार करते हैं। वे पूंजी लगाते हैं। फिर लाभ कमाते हैं। प्रदेश कांग्रेस पर कुछ इसी तरह के व्यापारी कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन उनकी कोशिश कामयाब नहीं होगी.

तो वहीं दूसरी तरफ बिहार कांग्रेस के कई बड़े नेता आगामी विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी की भागीदारी की मांग करते नज़र आ रहे हैं. साथ ही उम्मीद जताई जा रही है कि प्रियंका गांधी की सक्रियता से बिहार में कांग्रेस को फायदा पहुंचेगा.

Input your search keywords and press Enter.