fbpx
Now Reading:
भोपाल के खटलापुरा घाट पर गणेश विसर्जन में डूबी नाव, 11 लोगों की मौत, 3 लापता, 5 को बचाया गया
Full Article 3 minutes read

भोपाल के खटलापुरा घाट पर गणेश विसर्जन में डूबी नाव, 11 लोगों की मौत, 3 लापता, 5 को बचाया गया

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान खटलापुरा तालाब पर गए 11 लोगों की डूबने से मौत हो गई। तलाशी अभियान के दौरान बचावकर्मियों ने घाट से 11 लोगों को शव बरामद किए। लापता लोगों के लिए बचावकर्मियों के द्वारा रेस्क्यू अभियान अभी भी जारी है।

कब्र के मुताबिक गणेश विसर्जन के दौरान ये हादसा हुआ था। कुछ लोग नाव पर सवार होकर  खटलापुरा के बीचोंबीच भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जन करने के लिए गए थे। उसी दौरान नाव पलट गई और ये हादसा हो गया। नाव पर कुल 19 लोग सवार थे। ये सभी लोग पिपलानी एरिया से आए थे और भगवान गणेश की बड़ी सी प्रतिमा को क्रेन की मदद से तालाब में विसर्जन करने जा रहे थे।

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, दो नावें आपस में जुड़ी थीं, इन पर 22-23 लोग सवार थे। सभी लोग 27-28 साल उम्र के थे। कोई भी लाइफ जैकेट नहीं पहने हुआ था। एक नाव पलटी तो लोग दूसरी पर कूद गए। लिहाजा नाव का संतुलन बिगड़ गया। बचाव कर्मियों ने पांच लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया और तीन की तलाश की जा रही है। मारे गए लोग पिपलानी के 100 क्वार्टर के रहने वाले थे। मौके पर एसडीआरएफ की टीम, गोताखोर और पुलिस की टीम मौजूद है।

नाव पर बैठकर क्रेन के के सहारे प्रतिमा को तालाब के बीचों बीच ले जाने के दौरान ही नाव का संतुलन बिगड़ गया और फिर नाव पलट गई। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि इस घटना की जांच की जाएगी और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी।

जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी। हादसे में 11 लोगों का मौत दुर्भाग्यपूर्ण है। ये कैसे हुआ, इसकी जांच की जाएगी। नगर निगम इसके लिए अलग से घोषणा करेगी। जिस जगह घटना हुई, वहां मध्य प्रदेश होमगार्ड और राज्य आपदा बचाव दल (एसडीआरएफ) का मुख्यालय है।

Input your search keywords and press Enter.