fbpx
Now Reading:
चुनावी नतीजों से निवेशकों में मायूसी, शेयर बाजार की सुस्‍ती बरकरार
Full Article 2 minutes read

चुनावी नतीजों से निवेशकों में मायूसी, शेयर बाजार की सुस्‍ती बरकरार

शेयर बाजार सुस्‍ती बरकरार
मुंबई: शेयर बाज़ार में चुनावी असर साफ़ देखने को मिल रहा है बीते कई दिनों से जब से मतदान चल रहे हैं बाजार में सुस्‍ती बरकरार है. आगामी 23 मई को लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आ रहे हैं और इससे पहले ही भारतीय शेयर बाजार का मूड लगातार खराब होता जा रहा है. सप्‍ताह के दूसरे कारोबारी दिन के शुरुआती मिनटों में ही 50 अंक से ज्‍यादा टूटकर सेंसेक्‍स लुढ़क कर 37 हजार के करीब आ गया है.
8 साल में पहली शेयर बाजार इतना पस्‍त हुआ है !
सोमवार को सेंसेक्‍स 372 अंक यानी 0.99 फीसदी घटकर 37 हजार 90 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह निफ्टी भी कारोबार के अंत में 130 अंक यानी 1.16 फीसदी घटकर 11,148 अंक पर बंद हुआ. यह लगातार नौवां दिन था जब शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ.
करीब 8 साल बाद यह पहली बार है जब बाजार लगातार नौवें दिन पस्‍त हुआ है. इस 9 दिन में सेंसेक्‍स 1950 अंकों के करीब टूट गया है जबकि निफ्टी भी करीब 700 अंक लुढ़का है. शेयर बाजार के इस बुरे हालात के बीच निवेशकों के 8.56 लाख करोड़ रुपये डूब गए हैं.
क्‍यों बिगड़ रहा है बाजार का मूड?
दुनिया की दो बड़ी शक्तियां अमेरिका और चीन के बीच कारोबारी मोर्चे पर तनाव बढ़ता जा रहा है. इसका असर भारत समेत एशिया के सभी बाजारों पर देखने को मिल रहा है. इसके अलावा भारत में राजनीतिक अस्थिरता की वजह से भी निवेशक सहमे हुए हैं. दरअसल, राजनीति के पंडितों को स्‍पष्‍ट बहुमत की सरकार बनती हुई नजर नहीं आ रही है. यही वजह है कि निवेशकों में डर का माहौल है. मंगलवार के कारोबार में खुदरा महंगाई दर के आंकड़ों का भी असर देखने को मिला.
Related Post:  शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 100 अंक चढ़ा, निफ्टी 11,850 के पार
Input your search keywords and press Enter.