fbpx
Now Reading:
Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर की मिली खबर, ISRO ने जताई ये उम्मीद
Full Article 3 minutes read

Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर की मिली खबर, ISRO ने जताई ये उम्मीद

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का पता लगा लिया है। इसरो प्रमुख के. सीवन ने रविवार को इसकी घोषणा की। सीवन ने कहा कि चंद्रमा का चक्कर लगा रहे ऑर्बिटर ने विक्रम की थर्मल तस्वीरें ली हैं। सीवन के मुताबिक हालांकि अभी विक्रम के साथ फिर से सम्पर्क नहीं हो सका है।

इस सम्बंध में इसरो का प्रयास जारी है।एक अधिकारी ने कहा कि सही अनुकूलन के साथ यह अब भी ऊर्जा पैदा कर सकता है और सौर पैनल से बैटरियों को रिचार्ज कर सकता है। इससे पहले इसरो प्रमुख के शिवन ने शनिवार को कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी 14 दिनों तक लैंडर से संपर्क बहाल करने की कोशिश करेगी। इसरो के एक अधिकारी ने कहा चंद्रमा की सतह पर विक्रम की हार्ड लैंडिंग ने दोबारा संपर्क कायम करने को मुश्किल बना दिया है। क्योंकि यह सहजता से और अपने चार पैरों के सहारे नहीं उतरा होगा।

इसरो की ओर से लैंडर विक्रम के पता चलने का ऐलान होते ही जहां देशवासियों में खुशी की लहर दौड़ गई, वहीं यह खबर पलक झपकते ही सोशल मीडिया में भी छा गई। अपराह्न साढ़े तीन बजे से छह बजे शाम तक #विक्रमलैंडरफाउंड ट्िवटर का टॉप ट्रेंड बना रहा। यूजर ने उम्मीद जताई कि जल्द ही विक्रम से संपर्क स्थापित हो जाएगा। गौरतलब है कि ऑर्बिटर ने लैंडर विक्रम की थर्मल तस्वीर भेजी है जिससे उससे संपर्क करने की उम्मीदें बढ़ गई हैं।

इसरो के प्रमुख के शिवन ने रविवार को कहा कि चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग का अभियान तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन और देश के समर्थन ने अंतरिक्ष एजेंसी के वैज्ञानिकों का मनोबल बढ़ाया।

पाकिस्तान के वैज्ञानिक और पूर्व विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. अता-उर-रहमान ने कहा है कि भारत का चंद्रयान-2 मिशन पाक के लिए वेक अप कॉल है। हमें भारत से सीख लेनी चाहिए। भारत के चंद्रयान-2 मिशन को असफल नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि कई उन्नत तकनीक वाले देशों के भी इस प्रकार के मिशन असफल हुए हैं।

इसरो चीफ बोले-कैमरे से लैंडर की मौजूदगी का चला पता, पर नहीं हुआ संपर्क

बाधाएं सिगनल प्राप्त करने से रोक रही

चंद्रयान-1 निदेशक मायलास्वामी अन्नादुराई ने रविवार को कहा कि हो सकता है कि चंद्रमा  की सतह पर बाधाएं लैंडर को सिगनल प्राप्त करने से रही हो। उन्होंने कहा कि जैसा कि हमने चंद्रमा की सतह पर लैंडर का पता लगा लिया है। अब हम उससे संपर्क करने की कोशिश करेंगे।

Input your search keywords and press Enter.