fbpx
Now Reading:
चेन्नई: AIADMK की अवैध होर्डिंग गिरने से युवती की मौत पर हंगामा, जमकर हो रही राजनीति
Full Article 3 minutes read

चेन्नई: AIADMK की अवैध होर्डिंग गिरने से युवती की मौत पर हंगामा, जमकर हो रही राजनीति

-subashree-killed-in-accident-as-aiadmk-leaders-hoarding

चेन्नई में एक अवैध होर्डिंग ने एक 23 वर्षीय युवती की जान ले ली। दरअसल, एक सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाली 23 वर्षीय सुबाश्री अपने ऑफिस से घर की ओर जान रही थीं, उसी दौरान रास्ते में एआईएडीएमके का अवैध रूप से लगी होर्डिंग युवती के ऊपर गिर गई। इसी दौरान होर्डिंग के गिरते ही पीछे की ओर से तेजी से आ रही एक टैंकर ने युवती को कुचल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि आर सुबाश्री कांथाचेवदी में एक सॉफ्टवेयर फर्म में काम करती थी। वह सुबह छह बजे ऑफिस गई थी और दोपहर दो बजे शिफ्ट पूरी होने के बाद ऑफिस से निमिलीचेरी, क्रोमपेट स्थित अपने घर जा रही थी। पल्लवराम थोरइपक्कम रेडियल रोड पर सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके का एक होर्डिंग अवैध रूप से लगाया जा रहा था और वह युवती के ऊपर गिर पड़ा। सुबाश्री स्कूटी से गिर पड़ी और पीछे से आ रहे पानी के टैंकर ने उसे रौंद दिया।

Related Post:  मध्यप्रदेश : 5 घंटे तक अस्पताल के बेड पर पड़ा था शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां

मौत पर राजनीति जारी

DMK के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने AIADMK के बैनर पर गिरने के बाद कथित तौर पर चेन्नई में युवती की मौत पर कहा कि सरकार और पुलिस अधिकारियों की लापरवाही के कारण सुबाश्री की मौत हुई है। अवैध बैनर इससे पहले भी एक और जान ले चुके है।  सत्ता के भूखे और अराजकतावादी शासन में कितने और लोग अपनी जान गंवाएंगे ?

डीएमके के विधायक ई करुणानिधि ने भी इस हादसे पर कहा कि यह बैनर सरकार द्वारा लगाया गया है। हमारी पार्टी इस बात की वकालत करती रही है कि बैनर संस्कृति को खत्म होना चाहिए।अब इस युवती की मौत का जिम्मेदार कौन है ? पीड़ित के परिवार के सदस्यों को पर्याप्त मुआवजा दिया जाना चाहिए।

Related Post:  महाराष्ट्र: पूर्व केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर का काफिला हादसे का हुआ शिकार, CRPF के दो जवान की मौत

AIADMK के विवादित होर्डिंग का क्या हुआ ?

एआईएडीएमके के पूर्व पार्षद जयगोपाल ने अपने बेटे की शादी के लिए कई बैनर लगाए थे। इस घटना के तुरंत बाद लोगों ने उस होर्डिंग्स को फाड़ दिया। इस इलाके में लगभघ पचास बैनर और होर्डिंग्स लगाए गए थे। AIADMK कार्यकर्ता भी कुछ बैनर उतारते हुए दिखाई दिए।

इस बीच, चेन्नै निगम ने भी सड़क पर एक अवैध बैनर लगाने के लिए एआईएजीएमके के अधिकारी के खिलाफ एक अलग मामला दर्ज किया है। उन्होंने चेन्नै सिटी म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन ऐक्ट, 1919 की धारा 326 के तहत एक मामला दर्ज किया। यातायात ऐक्टिविस्ट एस रामासामी ने सड़क पर अवैध बैनरों के लिए एआईएडीएमके कार्यकर्ताओं, निगम अधिकारियों और पुलिस कर्मियों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करने की औपचारिक शिकायत दर्ज की है।

Related Post:  मुंबई: बिल्डिंग का स्लैब गिरने से विरार इलाके में चार साल की बच्ची की मौत
Input your search keywords and press Enter.