fbpx
Now Reading:
बिहार में अकेले लड़ने का कांग्रेस का ये है प्लान ? राजद ने भी सभी सीटों पर नाम तय करने शुरू किया

बिहार में अकेले लड़ने का कांग्रेस का ये है प्लान ? राजद ने भी सभी सीटों पर नाम तय करने शुरू किया

पटना: महागठबंधन में ऑल इज़ नॉट वेल, ऐसा लग रहा है कि बिहार में महागठबंधन का टूटना तय है। हालाँकि, इसे लेकर कांग्रेस और  राजद दोनों के नेता लगतार मातहापछि कर रहे हैं। मगर बात नहीं बन रही है। फिलहाल कांग्रेस और आरजेडी दोनों खेमा अपने-अपने हिसाब से चालीस सीटों पर लड़ने कि तैयारी करने में जुट गया है।

सूत्रों कि मानें तो, आरजेडी- कांग्रेस को सिर्फ आठ सीटें ही देने को तैयार है और वो चाहती है कि बची हुई उनके हिस्से कि कि तीन सीट हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को दे, जबकि कांग्रेस ग्यारह सीट पर लड़ना चाहती है। उसके पास इन सीटों के लिए कद्दावर दावेदार भी हैं। आरजेडी का तर्क है कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और बिहार में उसे सहयोगियों को ज्यादा सीट पर लड़ाना चाहिए। इस दलील के साथ आरजेडी इक्कीस सीट चाह रहा है। आरजेडी का फार्मूला खुद 21, कांग्रेस 8, कुशवाहा 5, हम 3 और बाकी बची तीन सीट वीआईपी और लेफ्ट को देने की है।

आरजेडी और कांग्रेस में जिन सीटों को लेकर विवाद है उनमें दरभंगा की सीट अहम है। दरभंगा पर आरजेडी अली अशरफ फातमी को लड़ाना चाहता है। जबकि कांग्रेस कीर्ति आज़ाद को उतारना चाहती है। मधुबनी में कांग्रेस शकील अहमद को तो आरजेडी अब्दुल बारी को लड़ाना चाहती है।

वहीँ उपेंद्र कुशवाहा मोतिहारी से माधव आनंद को लड़ना चाहते है तो कांग्रेस अखिलेश सिंह की पत्नी को चुनावी मैदान में उतारना चाहती है। वाल्मिकीनगर में कांग्रेस पूर्णमासी राम को लड़ाना चाहता है जबकि कुशवाहा अपने रिश्तेदार को। कटिहार और किशनगंज सीट में से कोई एक भी आरजेडी चाहता है। जबकि दोनों कांग्रेस की सीटिंग है और यही वजह है कि महागठबंधन टूटता दिख रहा है। असल में ये जितने भी लोग है या सीट हैं वो वोट बैंक को प्रभावित करती है।

कीर्ति आज़ाद के जरिए कांग्रेस मैथिल ब्राह्मण को जोड़ना चाह रही है। ये कांग्रेस का परंपरागत वोटर रहा है। प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा भी इसी जाति के हैं।कटिहार, किशनगंज, दरभंगा और मधुबनी में मुस्लिम अच्छी संख्या में हैं। आरजेडी ये संदेश नहीं देना चाह रहा कि मुस्लिम कांग्रेस की ओर मुड़े। जबकि कांग्रेस की कोशिश मुस्लिम और सवर्ण के जरिए बिहार में वापसी की है।

Input your search keywords and press Enter.