fbpx
Now Reading:
लौट आया है चक्रवर्ती तूफान ‘वायु’, इस बार खतरा पहले से भी है बड़ा
Full Article 2 minutes read

लौट आया है चक्रवर्ती तूफान ‘वायु’, इस बार खतरा पहले से भी है बड़ा

चक्रवात ‘वायु’ के अपना मार्ग बदलने और गुजरात के कच्छ तट पर दस्तक देने की संभावना है. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय में सचिव एम राजीवन ने बताया, ‘‘वायु के 16 जून को अपना मार्ग बदलने और 17-18 जून को कच्छ में दस्तक देने की संभावना है.’’ राजीवन ने कहा कि चक्रवात की प्रचंडता घटने की संभावना है. यह चक्रवात या ‘डीप डिप्रेशन’ के तौर पर तट पर दस्तक दे सकता है.

उन्होंने बताया कि गुजरात सरकार ने चक्रवात के मार्ग बदलने की संभावना के बारे में चेतावनी जारी की है. गौरतलब है कि चक्रवात वायु को गुरुवार को ही गुजरात तट पर दस्तक देनी थी लेकिन इसने बुधवार और गुरुवार की दरम्यिानी रात अपना मार्ग बदल लिया था.

एम राजीवन के बयान से ठीक कुछ घंटे पहले गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से राज्य को अब और खतरा नहीं है क्योंकि इसने पश्चिम दिशा की ओर रूख कर लिया है. गांधीनगर में शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के बाद रूपाणी ने प्रशासन को सुरक्षित जगह पर भेजे गये करीब 2.75 लाख लोगों को उनके अपने-अपने घर वापस भेजने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘गुजरात अब पूरी तरह सुरक्षित है. चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से अब कोई खतरा नहीं है क्योंकि तूफान अब अरब सागर में पश्चिम की ओर बढ़ गया है.’’ उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘‘तटीय इलाकों से करीब 2.75 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया था जो अब अपने-अपने घरों को लौट के लिये स्वतंत्र हैं.’’

रूपाणी ने कहा, ‘‘स्कूल और कॉलेज शनिवार से अपने नियत समय पर शुरू हो जायेंगे. राहत एवं बचाव अभियान की निगरानी के लिये तटीय जिलों में नियुक्त किये गये वरिष्ठ अधिकारियों और मंत्रियों को भी वापस आने का निर्देश दे दिया गया है.’’

Input your search keywords and press Enter.