fbpx
Now Reading:
बंगाल में बवाल : ममता बनर्जी ने कहा-बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलनी होगी
Full Article 2 minutes read

बंगाल में बवाल : ममता बनर्जी ने कहा-बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलनी होगी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चेताया है कि बंगाल में रहना है तो बांग्ला भाषा बोलनी होगी. ममता बनर्जी ने कहा कि हमे बांग्ला को आगे लाना होगा. मुख्यमंत्री ने कहा, ” जब मैं बिहार, यूपी, पंजाब जाती हूं तो मैं उनकी भाषा बोलती हूं. अगर आप बंगाल में हैं तो आपको बांग्ला बोलना होगा.”

ममता बनर्जी ने आगे कहा, ” मैं उन अपराधियों को बर्दाश्त नहीं करूंगी जो बंगाल में रहते हैं और बाइक पर घूमते हैं.” ममता ने पश्चिम बंगाल में जुनियर डॉक्टर्स की हड़ताल पर कहा, ”अस्पताल से जुड़े प्रदर्शनों में बाहरी लोग शामिल हैं.’

बता दें कि पश्चिम बंगाल में पिछले चार दिनों से हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टर्स को देशभर के डॉक्टर्स का साथ मिला है. ये डॉक्टर्स जुनियर डाक्टर के साथ मार-पीट किए जाने को लेकर हड़ताल पर हैं और अपनी सुरक्षा की मांग कर रहे हैं. इन जूनियर डॉक्टर्स को देशभर के डॉक्टर्स का साथ मिला है. इसके साथ ही बंगाल के आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के 126 प्रदर्शन कर रहे डॉक्टरों ने अपना सामूहिक इस्तीफा सौंप दिया है. नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के 27 डॉक्टर्स ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है. सभी का कहना है कि मौजूदा स्थिति की प्रतिक्रिया के रूप में हम सेवा देने में असमर्थ हैं, हम इस्तीफा देना चाहते हैं.

बिहार के पटना में डॉक्टर्स ने आज हड़ताल कर रखा है. वहीं केरल के तिरुवनंतपुरम में ‘डॉक्टर के खिलाफ हिंसा बंद हो’ की तख्ती लिए डॉक्टर्स ने प्रदर्शन किए. जयपुर में जयपुरिया अस्पताल में डॉक्टर्स ने बांह में काली पट्टी लगाकर मरीजों के इलाज किए. छत्तीसगढ़ के रायपुर में भी इसी तरह का नजारा दिखा. नागपुर में भी जूनियर डॉक्टर्स सड़कों पर दिखे और व्हील चेयर पर बैठकर खुद को असहाय दिखाया. इन डॉक्टर्स ने सिर पर घाव की पट्टी भी बांधी.

Input your search keywords and press Enter.