fbpx
Now Reading:
पटना: फिरौती के लिए इंस्पेक्टर की बेटी को कर लिया अगवा, चंद घंटों में बरामद

पटना: फिरौती के लिए इंस्पेक्टर की बेटी को कर लिया अगवा, चंद घंटों में बरामद

पटना : नीतीश बाबू के बिहार में अपहरण और फिरौती के मामले में रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब फिरौती के लिए परिवहन विभाग के मोबाइल इंस्पेक्टर मनोज कुमार रंजन की दो साल की बेटी का अपहरण उनके ही ड्राइवर ने कर लिया था।हालांकि कुछ ही घंटो में पुलिस ने अगवा बच्ची को बरामद कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, मोबाइल इंस्पेक्टर मनोज कुमार रंजन की बेटी मिष्टी कुमारी उम्र दो साल है और उनके ही निजी चालक चंद्रशेखर ने उसका अपहरण कर लिया था। जैसे ही बेगूसराय में तैनात अफसर को इसका पता चला तो उन्होंने इसकी खबर पुलिस को दी। इसके बाद हरकत में आई पुलिस चंद घंटों बाद ही अरवल के करपी में छापा मारकर चालक को गिरफ्तार कर लिया तथा बच्ची को मुक्त करा लिया।

Related Post:  झारखंड नक्सली हमले के बाद STF ने कुख्यात नक्सली सरयू कोड़ा को दबोचा, जंगलों में छिपकर रच रहा था साजिश

मोबाइल इंस्पेक्टर का परिवार शाहपुर थाने के मुबारकपुर में रहता है। सोमवार की दोपहर उनकी पत्नी प्रियंका को होली की खरीदारी के लिए बाजार जाना था। गाड़ी लेकर उनका चालक घर के गेट पर खड़ा था। पांच साल का बेटा प्रियंका के साथ था, जबकि बेटी मिष्टी गाड़ी में बैठ गई। तभी मौका हाथ लगते ही चालक बच्ची को लेकर भाग निकला। जब प्रियंका ने गाड़ी  नहीं देखी तो आसपास के लोगों से पूछताछ की। मोहल्ले वालों ने बताया कि गाड़ी चालक चंद्रशेखर लेकर चला गया है, उसमें मिष्टी भी थी।

Related Post:  दुष्कर्म में नाकाम युवकों ने पिलाया जहर, अस्पताल में हुई महिला की मौत

पटना की एसएसपी गरिमा मलिक ने बताया कि अपहरण के मामल में पटना पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया है। पुलिस को जैसे ही अपहरण की खबर मिली कई टीमें गठित कर छापेमारी शुरू कर दी गई थी। वायरलेस पर मैसेज फ्लैश हुआ। तब तक चालक बच्ची को लेकर करपी पहुंच गया। इसी बीच करपी पुलिस की नजर गाड़ी पर पड़ी। पुलिस ने कार चालक को रुकने का इशारा किया, लेकिन वह भागने लगा। मगर पुलिस ने खदेड़कर उसे पकड़ लिया।

Related Post:  एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर बनेगी समिति, कांग्रेस ने की सदन में चर्चा की मांग
Input your search keywords and press Enter.