fbpx
Now Reading:
तबाही के निशान पीछे छोड़कर आगे गुज़र गया फानी, ऐसे बची 12 लाख लोगों की जान
Full Article 2 minutes read

तबाही के निशान पीछे छोड़कर आगे गुज़र गया फानी, ऐसे बची 12 लाख लोगों की जान

फानी 12 लाख जान

ओडिशा: चक्रवाती तूफान फानी उड़ीसा से गुजर गया है लेकिन अपने पीछे छोड़ गया है तबाही के वह निशान जो कई दिनों तक लोगों के जेहन में ताजा रहेंगे. फानी तूफान में अब तक कुल 12 लोगों की मौत हो चुकी है. फनी तूफान की तबाही का मंजर आपने लगातार प्रसारित हो रहे वीडियो के माध्यम से तो देखा ही.


लेकिन आपको बता दें कि 1999 में भी इसी तरह का साइक्लोन उड़ीसा की तरफ से टकराया था तब करीब 10हजार लोग इस आपदा का शिकार हुए थे. इस बार भी तबाही क मंजर उतना ही भयावह था. लेकिन नुकसान काफी कम हुआ. क्योंकि राज्य और केंद्र सरकार काफी पहले से ही तूफान के लिए मुस्तैद थी.

युद्ध स्तर पर एनडीआरएफ वायु सेना और नौसेना की टीमों ने काम किया. इस बार 12 लाख लोगों को बचाया गया 26 लाख लोगों को मैसेज कर तमाम जानकारियां दी गई. इसके अलावा 43 हजार कर्मचारी और वॉलिंटियर्स लगातार युद्ध स्तर पर राहत और काम कर रहे थे. जसकी वजह से बड़े नुक्सान को टाला जा सका. बेशक सनी तूफान में उड़ीसा में जमकर तबाही मचाई लेकिन एक बात साफ हो गई कि अगर पूर्व तैयारी हो तो नुकसान कम होता है.

यह कहावत भी यहां सही होती दिख रही है कि
‘आया है तो गुजर जाएगा’
साया है तो बिखर जाएगा,
सब्र कर ले यह तूफान कुछ देर रहकर निकल जाएगा.

Input your search keywords and press Enter.