fbpx
Now Reading:
गौ तस्करी के शक में हुई पिटाई, फ़र्ज़ी गोरक्षकों ने पेशाब पीने को किया मजबूर
Full Article 3 minutes read

गौ तस्करी के शक में हुई पिटाई, फ़र्ज़ी गोरक्षकों ने पेशाब पीने को किया मजबूर

देश में फ़र्ज़ी गोरक्षकों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है. ताजा मामला हरियाणा के फ़तेहाबाद का है. जहां गौ तस्करी के शक में 4 लोगों के साथ मारपीट की गई है. बताया जा रहा है कि फर्जी गोरक्षकों ने इन लोगों को न सिर्फ कपड़े उतार कर बुरी तरह पीता बल्कि इस दौरान उन्हें पेशाब पीने को भी मजबूर किया गया. वहीं पिटाई में घायल लोगों का कहना है कि वे लोग मरे हुए जानवरों को उठाने का काम करते हैं और उनकी खालें उतारते हैं. इस मामले में दलित अधिकार मंच नाम की संस्था का आरोप है कि मृत पशुओं की खाल उतार रहे दलितों को जान बूझकर पीटा गया.  दलित अधिकार मंच ने आरोपियों के खिलाफ  कार्रवाई की मांग की है.

ये मामला फतेहाबा के दैयड गांव का है. स्थानीय पुलिस के मुताबिक गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी थी कि चार लोग गाय की खाल उतारते हुए पकड़े गए हैं और ये लोग गाय तस्करी का काम करते हैं. पुलिस के मुताबिक गो तस्करी के शक में चारों व्यक्तियों को पीटा गया है और चारों को मामूली चोटें आई हैं. पुलिस ने इस मामले में पकड़े गए चारों व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. इन्हें इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने मौके से बरामद मृत गाय और बछड़े के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. इनके खिलाफ गो रक्षा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है.

वहीं, दलित अधिकार मंच नाम का संगठन इन चारों व्यक्तियों के समर्थन में आ गया है. दलित अधिकार मंच के संयोजक बेगराज सिंह ने कहा है कि गो तस्करी के शक में जिन 4 लोगों को बुरी तरह से पीटा गया है वे लोग मृत पशुओं को उठाने का काम करते हैं और चारों दलित समाज से हैं. बेगराज के मुताबिक चारों व्यक्तियों से दलित अधिकार मंच के प्रतिनिधिमंडल ने अस्पताल में जाकर बातचीत की है और पूरे मामले की जानकारी ली है.

उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जानकारी लेने के बाद सामने आया है कि जो मृत पशु मौके पर बरामद किए गए हैं वह एक गोशाला में मरे हुए जानवर थे. ये लोग जानवरों के श्मशान में पशुओं की खाल उतार रहे थे. इस दौरान गांव कि कुछ लोगों ने गो तस्करी का आरोप लगाकर चारों को बुरी तरह पीटा और पेशाब भी पिलाया. बेगराज सिंह ने कहा कि दलित अधिकार मंच का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को इस संबंध में पुलिस प्रशासन और फतेहाबाद के डीसी से मिलेगा और इस संबंध में मारपीट करने वाले लोगों  के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगा.

Input your search keywords and press Enter.