fbpx
Now Reading:
घोड़ी पर चढ़ा दलित दूल्हा, ऊंची जाति के लोगों ने किया विरोध, पुलिस ने भी किया भेदभाव
Full Article 2 minutes read

घोड़ी पर चढ़ा दलित दूल्हा, ऊंची जाति के लोगों ने किया विरोध, पुलिस ने भी किया भेदभाव

साबरकांठा: गुजरात के अरवल्ली जिले में एक दलित की बारात रोकने के मामले सामने आया है। जहां ऊंची जाति के लोगों ने बारात को रोकने के लिए सड़क तक जाम कर दी. राज्य के अरवल्ली जिले के खामबिसार गांव के पाटीदार समुदाय के सदस्यों ने एक दलित की बारात बाधित करने के लिए मुख्य सड़क पर भजन और यज्ञ का आयोजन किया।

यह आरोप दूल्हे के परिवार ने लगाया है. वहीं पुलिस की मौजूदगी में महिला पुलिस अधिकारी भी दलितों पर ही बरसती हुई दिखाई दी। शुक्रवार को ठाकोर समुदाय के सदस्यों ने एक अन्य बारात पर आपत्ति जतायी क्योंकि दूल्हा घोड़ी पर सवार होकर विवाह करने जा रहा था.

दलित पक्ष ने पक्ष ने आरोप लगाया है कि गुजरात सरकार पिछले कई सालों से नफ़रत व बटवारा की राजनीति कर रही है और गुजरात पुलिस भी उसमे पूरी तरह उनके साथ हैं। यह पुलिस अफसर जातिवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे दलितों के खिलाफ खुलेआम समर्थन कर रही है। जल्द से जल्द  DySP फाल्गुनीबेन को सस्पेंड किया जाए।

गुजरात के अरवल्ली जिले के खंभासर गांव में घोडी चढने के मामले में गुजरात पुलिस दलितों को सुरक्षा देने में नाकाम, उल्टा दलित भाई बहनो पे कहर टूट रहा है, गुजरात के अरावली में दलित की शादी में बारात रोकने के लिए रास्ते में भजन करने बैठ गयी सवर्ण महिलाये।

Input your search keywords and press Enter.