fbpx
Now Reading:
डूब गई मुंबई, सड़कों पर घुटने तक जलजमाव, लोगों के घरों में घुसा पानी, 48 घंटों का रेड अलर्ट जारी
Full Article 3 minutes read

डूब गई मुंबई, सड़कों पर घुटने तक जलजमाव, लोगों के घरों में घुसा पानी, 48 घंटों का रेड अलर्ट जारी

मुंबई में लगातार तेज बारिश की वजह से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. पिछले 24 घंटे से हो रही लगातार तेज बारिश की वजह से मुंबई की सड़कों पर भारी जल जमाव की स्थिति पैदा हो गई है यातायात पूरी तरह से ठप हो गया है वहीं रेल यातायात और हवाई यातायात भी बुरी तरह से बाधित हैं.

  • मुंबई में शुक्रवार रात हुई भारी बारिश
  • 48 घंटे के लिए रेड अलर्ट जारी
  • ठाणे में सभी सरकारी स्कूल आज बंद
  • मुंबई एयरपोर्ट से 10 फ्लाइट्स रद्द
  • जलभराव के कारण यातायात प्रभावित
मुंबई की सड़कें नदियों में तब्दील हो गई हैं और सड़कों पर जलजमाव की वजह से कामकाजी लोगों को ऑफिस तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. मुंबई के कई इलाकों में 3 से 4 फुट तक पानी जमा हो गया है. मौसम विभाग का कहना है कि 24 घंटे और भारी बारिश हो सकती है.
आपको बता दें कि बीते दिनों मुंबई में तेज बारिश की वजह से दो जगह दीवार गिरने की घटना सामने आई थी. जिसमें 30 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है ऐसे में इस बार का मानसून मुंबई के लिए कहर बरपा रहा है यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा.
ये नाज़ारा मुंबई के बोरीवली स्टेशन के बाहर का जहां पानी समुद्र की लहरों की तरह दिखाई दे दे रहा है.
ये मुंबई के अँधेरी का सबवे है जो पानी में डूबा हुआ है. 
वहीं मुंबई महानगरपालिका का ढुलमुल रवैया अब भी बरकरार है. सड़कों पर गड्ढे और गड्ढों में सड़क.आम मुंबईकर पूरी तरह से इन गड्ढों की वजह से परेशान है. मानसून के पहले बीएमसी दावे करती है कि सभी सड़के सुधार ली गई है ड्रेनेज सिस्टम को मानसून के लिए तैयार कर दिया गया है. लेकिन मॉनसून सक्रिय होते ही बीएमसी की पोल खुल जाती है.
मुंबई के नाले जानलेवा हो गए हैं और बच्चों के बहने की खबर भी आपने पहले सुनी ही होगी लेकिन उसके बावजूद अब भी कई जगह खुले नाले बह रहे हैं. नालों के ऊपर गटर पर ढक्कन नहीं लगाया गया है. बीएमसी की इस तरह की लापरवाही बड़ी दुर्घटनाओं को अंजाम दे रही है.
Related Post:  बिहार : भीषण बारिश से अब तक 29 की मौत, सोमवार को भी कई जिलों में बारिश का अलर्ट जारी
Input your search keywords and press Enter.