fbpx
Now Reading:
वन अधिकारी पर शिकारियों का तीर से हमला, डॉक्टरों को कई घंटो तक करना पड़ा ऑपरेशन

वन अधिकारी पर शिकारियों का तीर से हमला, डॉक्टरों को कई घंटो तक करना पड़ा ऑपरेशन

छत्तीसगढ़ के रायपुर के पास बारनवापारा अभयारण्य के जंगल में में ड्यूटी पर तैनात वन अधिकारियों पर शिकारियों ने तीर से जानलेवा हमला कर दिया। वन अधिकारी को शिकारियों तीर पीछे पीठ पर लगी. तीर  फारेस्ट गार्ड के कमर से ठीक ऊपर पीठ में जा धंसी। किसी तरह दूसरे अधिकारियों ने मिलकर फारेस्ट गार्ड को एम्बुलेंस से जख्मी हालत में रायपुर के एक निजी अस्पताल पहुंचाया। जहाँ डॉक्टरों ने बड़ी सावधानी से करीब सात घंटे लंबे ऑपरेशन के बाद तीर को बाहर निकाला। अब गार्ड की हालत खतरे से बाहर है।

Related Post:  कोल्हापुर जिले के नृसिंहवाड़ी का दत्त मंदिर बाढ़ में डूबा, तैरकर मंदिर पहुंचे लोग, लगाई आस्था की डुबकी

अब इस पूरे मामले को स्थानीय पुलिस को सौंप दिया गया है। शक है की शिकारी पहले से  पेड़ों पर बैठे थे और जैसे ही नवापारा अभ्यारण्य के चरौदा बीट में तैनात फारेस्ट गार्ड योगेश्वर सोनवानी और चौकीदार रामजी गश्त के लिए निकले थे। उन्हें जंगल के रास्ते में शिकारियों के निशान नजर आए, उसी का पीछा करते हुए वो जब आगे बढे तो अचानक उन पर हमला कर दिया गया। शिकारियों के हाथों में तीन-धनुष था।

Related Post:  लालच में अंधा हुआ चाचा, अच्छी फसल के लिए दी मासूम की बलि

दोनों ने उन्हें रोकने की कोशिश की। शिकारियों ने योगेश्वर पर तीर चला दिया। तीर पीठ में जा धंसा। योगेश्वर को रामजी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। इसी बीच घटना की सूचना वन विभाग के आला अधिकारियों को लगी। वे योगेश्वर को लेकर रायपुर स्थित एमएमआई नारायणा मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल पहुंचे। शिकारियों की तलाश जारी है।

Input your search keywords and press Enter.