fbpx
Now Reading:
26 /11 के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज के खिलाफ पाक की कार्रवाई महज दिखावा, आंखों में धूल झोंकने की कोशिश
Full Article 4 minutes read

26 /11 के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज के खिलाफ पाक की कार्रवाई महज दिखावा, आंखों में धूल झोंकने की कोशिश

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद पर पाकिस्तान की ओर से कार्रवाई की खबरों भारत ने प्रतिक्रिया दी है। पाकिस्तान सरकार द्वारा आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और कार्रवाई की बात को भारत सरकार ने महज दिखावा करार दिया है। विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि पाकिस्तान आतंकवादी समूहों के खिलाफ अपने ”दिखावटी कदमों से अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आंखों को धूल झोंकने का प्रयास कर रहा है। टेरर फंडिंग मामले में जमात उद दावा के प्रमुख आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ मुकदमे पर भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा हमे आतंकवादी समूहों के खिलाफ पाकिस्तान के दिखावटी कदमों से झांसे में नहीं आना चाहिए।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई के नाम पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश कर रहा है। आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकता। पाकिस्तान को जल्द हाफिज सईद को भारत को सौंप देना चाहिए।

भारतीय विदेश मंत्रालाय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान आतंकी समूहों और आतंकवादियों पर कार्रवाई को लेकर कितना गंभीर है, इसका फैसला सत्यापनीय, विश्वसनीय और अपरिवर्तनीय कार्रवाई को प्रदर्शित करने की उनकी क्षमता के आधार पर किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान आतंक के खिलाफ कार्रवाई का दावा करता है, मगर जब हम ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने को कहते हैं, जो साफ तौर पर आतंकी गतिविधियों में शामिल हैं तो वह मुकर जाता है। वहीं दूसरी तरफ अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने ऐसे दिखावा करता है जैसे वह आतंकवाद के खिलाफ सच में कार्रवाई कर रहा हो।

भारत ने कहा कि वह आतंक से मुक्त वातावरण में एक सामान्य संबंध चाहता है और आधे-अधूरे उपायों के आधार पर नहीं, जो वे कभी-कभी अंतरराष्ट्रीय समुदाय को धोखा देने के लिए वे करते रहते हैं। बता दें कि भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से बयान उस रिपोर्ट पर आया है, जिसमें कहा जा रहा है कि पाकिस्तान ने हाफिज सईद और उसके 12 सहयोगियों के खिलाफ टेरर फंडिंग मामले में मुकदमा दर्ज किया है।

विदेश मंत्रालय की ओर से यह प्रतिक्रिया ऐसे समय आयी है जब पाकिस्तान ने दावा किया है कि उसने मुम्बई आतंकवादी हमलों के साजिशकर्ता हाफिज सईद और उसके 12 नजदीकी सहयोगियों के खिलाफ 23 मामलों में ”आतंकवाद के वित्तपोषण के लिए मामला दर्ज किया है। पाकिस्तान की ओर से यह दावा ऐसे समय किया गया है जब पाकिस्तान पर इसके लिए वैश्चिक दबाव बढ़ रहा है कि वह भारत में भीषण हमले करने वाले आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करे।

गौरतलब है कि समाचार एजेंसी भाषा ने खबर दी है कि मुंबई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद जल्द दी पाकिस्तान में सलाखों के पीछे होगा। गुरुवार को पाकिस्तान की पुलिस ने बताया कि हाफिज सईद और उसके 12 सहयोगी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। बता दें कि पाकिस्तान की एजेंसियों ने मुम्बई हमले के सरगना तथा जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद और उसके 12 करीबियों के खिलाफ चैरिटी के जरिये धन इकट्ठा कर धनशोधन एवं आतंकवाद के वित्तपोषण के विभिन्न अपराधों के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पाकिस्तान ने यह फैसला आतंकवादी समूहों और आतंकवाद के वित्तपोषण पर लगाम लगाने के लिये अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच लिया है। पाकिस्तान के पंजाब पुलिस के आतंकवाद विरोधी विभाग (सीटीडी) ने बुधवार को कहा कि उसने “आतंकवाद के वित्तपोषण” के सिलसिले में जमात-उद-दावा के 13 नेताओं के खिलाफ 23 प्राथमिकियां दर्ज की हैं।

सीटीडी ने एक बयान में कहा, “आतंकवाद के वित्तपोषण के खिलाफ जारी सीटीडी पंजाब की कार्रवाई में जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद और अन्य नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज किये गए हैं।” सीटीडी ने कहा कि जमात उद दावा, लश्कर ए तैयबा और एफआईएफ के मामलों की जांच जारी है। यह जांच आतंकवाद के वित्त पोषण के लिए धन जुटाने के उद्देश्य से ट्रस्टों का इस्तेमाल करने के बारे में है।

1 comment

  • […] post 26 /11 के मास्टरमाइंड … appeared first on Hindi News, हिंदी […]

Input your search keywords and press Enter.