fbpx
Now Reading:
1 फरवरी से महंगा होगा ट्रेन का सफर, इतना बढ़ सकता है किराया
Full Article 2 minutes read

1 फरवरी से महंगा होगा ट्रेन का सफर, इतना बढ़ सकता है किराया

Indian Railway

भारतीय रेलवे जल्द ही यात्री किराये में बढ़ोतरी कर सकता है. रेलवे बोर्ड को इसके लिए मंज़ूरी मिल चुकी है. इसके लिए रेल अधिकारियों के बीच मंथन शुरू हो चुका है. सूत्रों के मुताबिक रेलवे सबअर्बन ट्रेनों से लेकर मेल/एक्सप्रेस के हर क्लास के किराये में बढ़ोतरी करने जा रहा है. यह बढ़ोतरी 5 पैसे प्रति किलोमीटर से लेकर 40 पैसे प्रति किलोमीटर तक हो सकती है. इस तरह से रेलवे के हर क्लास के किराये में 15 से 20 फीसदी तक इजाफा हो जाएगा.

इस बढ़े हुए किराये का ऐलान दिसंबर के अंत तक होने की संभावना है जबकि बढ़ा किराया 1 फरवरी 2020 से लागू हो सकता है. रेलवे ने पिछली बार साल 2014 में उस वक़्त नई सरकार बनने के बाद किराये में करीब 15 फीसदी की बढ़ोतरी की थी. मौजूदा समय में रेलवे में लागत से औसतन 43 फीसदी कम किराया वसूला जाता है.

रेलवे को इतना उठाना पड़ा है नुकसान
अगर अलग-अलग क्लास की बात करें तो रेलवे को सब अर्बन ट्रेनों के किराये पर क़रीब 64 फ़ीसदी का नुकसान उठाना पड़ता है. जबकि नॉन सब अर्बन ट्रेन के सवारी डिब्बों पर 40 फ़ीसदी का नुकसान होता है. वहीं एसी 1 पर क़रीब 24 फीसदी का नुकसान, एसी 2 पर क़रीब 27 फीसदी नुकसान, स्लीपर क्लास से क़रीब 34 फीसदी का नुकसान और चेयर कार से क़रीब 16 फीसदी का नुकसान होता है.

एसी 3 क्लास में होता है फायदा
रेलवे को केवल एसी 3 क्लास की सवारियों को ढोने में फायदा होता है जो कि क़रीब 7 फीसदी है. इसी हफ़्ते सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में रेलवे के आर्थिक हालात पर चिंता जताई थी.

Input your search keywords and press Enter.