fbpx
Now Reading:
जम्मू-कश्मीर : धारा 370 को खत्म करने का बिल राज्यसभा में पेश, अब राज्य नहीं केंद्र शासित प्रदेश बना J&K
Full Article 2 minutes read

जम्मू-कश्मीर : धारा 370 को खत्म करने का बिल राज्यसभा में पेश, अब राज्य नहीं केंद्र शासित प्रदेश बना J&K

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने का संकल्प पेश किया। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे। इससे पहले जब राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई तो सभापति एम वेंकैया नायडू ने शाह से जम्मू-कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक पेश करने को कहा। इस पर विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कश्मीर में कर्फ्यू है। तीन पूर्व मुख्यमंत्री नजरबंद कर दिए गए हैं। राज्य में हालात वैसे ही हैं, जैसे जंग के वक्त होते हैं। विधेयक तो पारित हो जाएगा। हम विधेयक के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हमें पहले कश्मीर के हालात पर चर्चा करनी चाहिए। हमने इसी को लेकर नोटिस भी दिया है। एक घंटे उस पर चर्चा होनी चाहिए।

आजाद के बयान पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर हर जवाब देने को तैयार हूं और यह विधेयक भी कश्मीर के संबंध में ही है। उन्होंने कहा कि इस सदन में पेश संकल्प के पारित होने के बाद, राष्ट्रपति के उस पर हस्ताक्षर और सरकारी गैजेट में उसके प्रकाशित होने के बाद जम्मू-कश्मीर के संबंध में अनुच्छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे।

– धारा 370 को खत्म करने का बिल राज्यसभा में पेश, अब राज्य नहीं केंद्र शासित प्रदेश बना JK

– अमित शाह के संकल्प पत्र पेश करने के बाद राज्यसभा में हंगामा जारी ।
-अमित शाह ने राज्यसभा में कहा कि राष्ट्रपति की अनुमति के बाद जम्मू-कश्मीर से धारा 370 समाप्त हो जायेगी, उसका सिर्फ खंड 1 लागू रहेगा।

-जम्मू-कश्मीर : धारा 370 को खत्म करने का बिल राज्यसभा में पेश, राष्ट्रपति की अनुमति के बाद होगा लागू।

– अमित शाह ने राज्यसभा में कहा, राष्ट्रपति की अनुमति के बाद धारा 370 लागू नहीं रहेगा।
-राज्यसभा में हंगामा, विपक्ष के नेता गुलाम नबी ने कहा, कश्मीर में युद्ध जैसे हालात, बड़े नेता नजरबंद, पहले इसपर बहस हो. सरकार बताये कि पूर्व सीएम को नजरबंद क्यों किया गया है. अमित शाह ने कहा कि मैं हर सवाल का जवाब देने को तैयार हूं।

Input your search keywords and press Enter.